MP News: उत्तराखंड त्रासदी में प्रदेश के लापता हुए व्यक्ति का शव बरामद

जहां से परिजनों के सामने रेस्क्यू जारी रहा परन्तु इनमें से किसी का भी कोई सुराग नही मिला। उसके बाद उत्तराखंड सरकार ने सभी परिजनों को बापिस भेज दिया।

mp news

शिवपूरी, शिवम् पांडेय। उत्तराखंड में एक बार फिर भारी तबाही हुई, चमोली जिले में ग्लेशियर टूटने से अलकंदा और धोलीगंगा नदी उफान पर चढ़ गई थी। जिसके चलते आस-पास के इलाकों को खाली कराया जा गया था और लोगों से सुरक्षित स्थानों पर चले जाने की अपील की जा रही था। आईटीबीपी के जवान बचाव कार्य के लिए पहुंचे थे।
उत्तराखंड में आई त्रासदी में शिवपुरी के चार लोगों के फंसे होने के चलते लगातार चल रहे रेस्क्यू के बाद आज धोली गंगा नदी से शिवपुरी के सोनू लोधी की लाश रेस्क्यू के बाद मिली, जबकि इस हादसे के दौरान गायब शिवपुरी के तीन युवकों की तलाश जारी है।

सुत्रो से मिली जानकारी के अनुसार सोनू लोधी पुत्र सिकंदर लोधी उम्र 26 साल निवासी वार्ड नं 13 नवंबर अपने तीन साथियों के साथ ऋषिकेश पावर प्लांट में ओम मेटल कंपनी में बेल्डर का काम करते हैं। राकेश नरवरिया करीब 15 दिन पहले ही कंपनी के साथ काम करने के लिए गया था। जबकि सोनू डेढ़ महीने से वहां काम कर रहा था। भानू और गजेंद्र दीपावली के बाद से कंपनी के प्लांट में काम कर रहे थे। जिसमें से आज देर शाम सोनू की लाश को रेस्क्यू कर बाहर निकाल लिया है। जबकि शिवपुरी जिले के तीन लोग अभी भी लापता है।

धमकन गांव के दो युवक इसी कंपनी के दूसरे प्रोजेक्ट में काम करते हैं। उन्होंने भानू और गजेंद्र के परिजनों को रविवार को हादसे की सूचना दी और कंपनी में संपर्क करने को कहा। जब परिजनों ने कंपनी में संपर्क किया तो कंपनी के अधिकारियों ने सभी के दस्तावेज लेकर उन्हें देहरादून बुलाया । जहां से परिजनों के सामने रेस्क्यू जारी रहा परन्तु इनमें से किसी का भी कोई सुराग नही मिला। उसके बाद उत्तराखंड सरकार ने सभी परिजनों को बापिस भेज दिया।

तीन बहनों का अकेला भाई था सोनू

उत्तराखंड के चमोली जिले में ऋषि गंगा हाइड्रो प्लांट में काम करने वाले सोनू तीन बहिनों में अकेला भाई हैं बताया गया हैं कि अभी सोनू की शादी नहीं हुई हैं लेकिन परिवार का पूरा खर्च भी सोनू उठाता था। वहीं राकेश, भानू और गजेन्द्र की शादी हो चुकी हैं और उनके पीछे भी अपना भरा पूरा परिवार छोड़ गया हैं।

इस मामले की सूचना उत्तराखंड से शिवपुरी कलेक्टर को दी जहां शिवपुरी कलेक्टर अक्षय कुमार ने तत्काल गाड़ी की व्यवस्था कर परिजनों को उत्तराखंड के लिए रवाना कर दिया है।