राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा का ऐलान, ‘अब कभी भी जबलपुर से नहीं लड़ेंगे चुनाव’

राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने ऐलान किया है कि अब वो कभी भी जबलपुर से चुनाव नहीं लड़ेंगे।

जबलपुर, संदीप कुमार। राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा (Vivek Tankha) ने ट्वीट कर बड़ा ऐलान किया है, तन्खा ने
कहा कि मेरे इस बयान का बहुत से लोग राजनीतिक मायने निकालेंगे, मैं यह जानता हूँ पर मैं यह सब राजनीति के लिए नहीं कह रहा हूं,उन्होंने कहा कि ‘जबलपुर से निश्चित मै कोई चुनाव नहीं लड़ूँगा ! पर शहर के हक़ और अधिकारो के लिए आवाज़ ज़रूर उठाऊँगा। शहर वासी अकेला और बेबस महसूस ना करे। हम सब इस दर्द में साथ है।’

मैं आपकी आवाज बन कर रहूंगा हमेशा साथ में
राज्य सरकार (state government) के द्वारा जबलपुर के साथ हो रहे सौतेले व्यवहार को लेकर अब राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने जबलपुर वासियों के लिए ट्वीट कर एक पैगाम सार्वजनिक किया है, उन्होंने कहा कि मैं जबलपुर वासियों के हर दर्द में शामिल रहूंगा और हमेशा आप लोग के हर सुख दुख में साथ खड़ा रहूंगा, राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने कहा कि भले ही मेरा जन्म रीवा में हुआ है पर जबलपुर मेरी कर्म भूमि है और मैं सिर्फ जबलपुर ही नहीं पूरे मध्यप्रदेश से बहुत प्यार करता हूं पर यह देखा जा रहा है कि राज्य सरकार लगातार जबलपुर के साथ भेदभाव करती आ रही है।

यह भी पढ़ें…जबलपुर : पति ने पत्नी के प्रेमी को उतारा मौत के घाट, पुलिस कर रही मामले की जांच

बतादें कि इससे पहले भी राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने रेमडेसिवीर इंजेक्शन से लेकर ऑक्सीजन के लिए कई ट्वीट किये थे, उन्होंने मध्य प्रदेश सरकार और यहाँ काम कर रहे प्रशासनिक अधिकारियों को लेकर एक बड़ा वार करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश के प्रशासनिक अधिकारी सिर्फ भोपाल (Bhopal) और इंदौर (Indore) को ही तवज्जो देते हैं और उनकी नजरों में जबलपुर (Jabalpur) कुछ भी नहीं है यही वजह है कि कोरोना काल में जबलपुर वासी लगातार संकट से जूझ रहे हैं बावजूद इसके राज्य सरकार और यहां पदस्थ प्रशासनिक अधिकारियों का इस और कोई भी रुझान नहीं दिख रहा है।

यह भी पढ़ें…इंदौर में फल मंडी पर नगर निगम की बड़ी कार्यवाही, 30 वाहनों को किया जब्त