MP News: अधिकारियों पर बड़ा एक्शन, रोकी गई 9 की एक वेतन वृद्धि, कारण बताओ नोटिस जारी

MP News: अधिकारी कर्मचारियों के अलावा कई अधिकारी कर्मचारियों को कर्तव्य के निर्वहन और शासन के निर्देशों की अवहेलना ना करने की हिदायत दी गई है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में राज्य शासन का निर्देशों ना मानना अधिकारी (officer) कर्मचारियों (employees) के लिए मुसीबत बन गया है। दरअसल राज्य शासन के दिशा निर्देशों का पालन न करने के कारण 9 अधिकारियों की एक वेतन वृद्धि (increment) रोक दी गई है। इसके अलावा कुछ अधिकारी कर्मचारियों को आगाह किया गया है।

जानकारी के मुताबिक महिला बाल विकास विभाग (Women and Child Development Department) के संचालक डॉ. राम राव भोसले ने बाल विकास परियोजना अधिकारी को आंगनबाड़ी केंद्रों (Aanganwadi Centers) के निरीक्षण के निर्देश दिए थे। इसके अलावा निरीक्षण कर इसकी जानकारी संपर्क एप (Sampark APP) पर रिपोर्ट करनी थी।

हालांकि राज्य शासन के निर्देश का अधिकारियों पर कोई असर नहीं हुआ। बाल विकास परियोजना अधिकारी द्वारा संपर्क एप पर रिपोर्ट दर्ज न कराने के कारण उन्हें कारण बताओ नोटिस (so cause notice) जारी कर उनके एक वेतन वृद्धि (increment) रोकने के आदेश दिए गए हैं।

Read More: MP Politics: BJP के तैयार हो रहे दुर्ग को भेदने की कोशिश! कमलनाथ ने 24 नवंबर को बुलाई बड़ी बैठक

जिन अधिकारियों पर गाज गिरी है। उसमें बाल विकास परियोजना अधिकारी कविता चौहान, मधुबाला परमार कौशलेंद्र सिंह भावई, फांसेस्का कजूर, केशव गोयल राहुल गुप्ता बीना मिश्रा विजय कुमार जैन, अरुण कुमार के शासकीय निर्देशों की अवहेलना के कारण वेतन वृद्धि रोकी गई है।

बता दें कि विभाग द्वारा सभी बाल विकास परियोजना अधिकारी को महीने में 12 दिन आंगनबाड़ी केंद्रों का निरीक्षण कर इसकी रिपोर्ट संपर्क एप पर दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं शासन के निर्देशों का पालन न करने वाले अधिकारी कर्मचारियों पर गाज गिरने का सिलसिला जारी है। अधिकारी कर्मचारियों के अलावा कई अधिकारी कर्मचारियों को कर्तव्य के निर्वहन और शासन के निर्देशों की अवहेलना ना करने की हिदायत दी गई है।