MP Politics: विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए यह क्या बोल गए कमलनाथ

कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस ने निर्णय लिया है, विधानसभा अध्यक्ष पद की संवैधानिक गरिमा बनाए रखने के लिए अध्यक्ष पद के निर्वाचन में पूर्ण रुप से सहयोग करेंगे

कांग्रेस

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 18 साल के बाद एक बार फिर से इंदौर (indore) में संभागीय कार्यकर्ता सम्मेलन (Divisional worker conference) आयोजित किया जा रहा है। इस सम्मेलन में पीसीसी चीफ कमलनाथ (kamalnath) भी शामिल रहेंगे। इतना ही नहीं कमलनाथ सम्मेलन सभा को संबोधित भी करेंगे। संभागीय कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं से सीधे रूप से चर्चा करेंगे। इससे पहले उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए गिरीश गौतम के नाम पर भी बड़ा बयान दिया।

इंदौर के बास्केटबॉल काम्प्लेक्स में आयोजित इस संभागीय कार्यकर्ता सम्मेलन में पीसीसी चीफ कमलनाथ आगामी बजट सत्र (budget session) सहित नगरीय निकाय चुनाव (urban body election) और पंचायत चुनाव (panchayat election) पर भी कार्यकर्ताओं से चर्चा कर सकते हैं। इससे पहले सोमवार से शुरू हो रहे बजट सत्र में विधानसभा अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर भी पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ ने ट्वीट किया है।

Read More: Shivpuri News: विकास के खोखले दावे! निशाने पर पंचायत सचिव और इंजीनियर

कमलनाथ ने कहा कि भाजपा ने शुरू से संसदीय परंपराओं पर विश्वास नहीं किया है। बीजेपी पर आरोप लगाते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष का पद सत्ता पक्ष और उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को देने की परंपरा को सर्वप्रथम बीजेपी ने तोड़ा था लेकिन शुरू से कांग्रेस का संसदीय परंपराओं में विश्वास रहा है।

कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस ने निर्णय लिया है कि विधानसभा अध्यक्ष पद की संवैधानिक गरिमा बनाए रखने के लिए अध्यक्ष पद के निर्वाचन में पूर्ण रुप से सहयोग करेंगे। इसके साथ ही निर्विरोध तरीके से विधानसभा अध्यक्ष पद का निर्वाचन कल संसद में करवाया जाएगा। बता दें कि लंबे इंतजार के बाद इस बार विधानसभा अध्यक्ष पद विंध्य क्षेत्र के खाते में गया है। जहां रीवा के देवतालाब से विधायक गिरीश गौतम ने विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए आज सुबह नामांकन किया है।