एमपी स्कूल ओपन: पहली से आठवीं तक के स्कूलों को खोलने पर दीपावली के बाद होगा निर्णय

विभाग के अधिकारी का कहना है कि अभी पहली से आठवीं तक के एमपी में स्कूल खोलने(MP School open) की कोई संभावना नहीं है।

अक्टूबर

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र सरकार (Central Government) की पंद्रह अक्टूबर से स्कूल खोलने (School Opening) की नई गाइडलाइन के बाद मध्य प्रदेश में स्कूल खोलने(MP School open) और पहली से आठवीं तक की अभी नियमित कक्षाएं शुरू नहीं होगी। इन कक्षाओं को खोलने का निर्णय दीपावली (Diwali) के बाद लिया जाएगा। हालांकि 9वीं से 12वीं तक की आंशिक रूप से कक्षाएं संचालित की जाती रहेगी।

केंद्र ने 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। इस पर केंद्र ने सभी राज्यों को फैसला लेने के लिए कहा है केंद्र की गाइडलाइन के मुताबिक राज्यों को s.o.p. तैयार करने के निर्देश दिए हैं। इस संबंध में मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा (MP School Education Department) विभाग ने अभी कोई गाइडलाइन तैयार नहीं की है। एसएसओपी के आधार पर 21 सितंबर से 9वीं से 12वीं तक के स्कूल जैसे संचालित हो रहे है वैसे ही संचालित होते रहेंगे। विभाग के अधिकारी का कहना है कि अभी पहली से आठवीं तक के स्कूल खोलने(MP School open) की कोई संभावना नहीं है।

9वीं से 12वीं तक के स्कूलों में भी नियमित कक्षाएं नहीं लग पाएंगे, बल्कि आंशिक कक्षाएं ही चलती रहेगी। दीपावली के बाद कोरोन को देखते हुए मिडिल और हाईस्कूल व हायर सेकेंडरी को खोलने पर विचार होगा, तब नई सूची तैयार की जाएगी। विभाग के अधिकारी का कहना है कि जिसे सभी का पालन कर वर्तमान में स्कूल संचालित हो रहे हैं उसी के मुताबिक स्कूल लगेंगे। अभी भी सिर्फ़ 5 फ़ीसदी अभिभावकों का सहमति पत्र बच्चों को स्कूल भेजने के लिए मिला है। ऐसे में स्कूल में नियमित कक्षाएं नहीं लग पाएगी।

बाहर से आने वाले विद्यार्थियों को होगी परेशानी

केंद्र सरकार की गाइडलाइन के बाद प्रदेश में भी छात्र-छात्राओं की कक्षाएं लगाने को लेकर कुछ तैयारी शुरू हो गई है। लेकिन बाहर से आकर पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों की रहने की समस्या भी सामने आ रही है। अधिकांश सरकारी हॉस्टल क्वॉरेंटाइन सेंटर बने हैं और सीमित सीट है। वहीं किराए के मकान में चल रहे अधिकांश प्राइवेट हॉस्टल लॉक डाउन की मार नहीं झेल पा रहे हैं और बंद हो गए हैं। हालांकि प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के कारण स्कूल शिक्षा विभाग अभी कक्षा 1 से 8 तक की कक्षा नहीं लगाने को लेकर असमंजस में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here