MP Weather Update : मौसम के बदल रहे मिजाज, जाने कैसा रहेगा पूरा हफ्ता

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) का मौसम (Weather) इन दिनों तेजी से बदल रहा है, जिसके चलते दिन और रात के तापमान (Temperature) में बढ़ोतरी होने लगी है, इसका कारण हरियाणा (Haryana)और उससे लगे पश्चिमी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना होना है। दिसंबर (December) से एक साथ तीन सिस्टम बनने के कारण मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा और कड़ाके की ठंड पड़ सकती है।

दरअसल, दक्षिण भारत (South India) पर आए चक्रवाती तूफान निवार (Nivar) के प्रभाव से मध्य प्रदेश के पूर्वी तथा दक्षिणी जिलों में पिछले 2 दिनों के दौरान हल्की से मध्यम वर्षा की गतिविधियां देखी गई थी। अब इस तूफान का प्रभाव समाप्त हो जाएगा परंतु पूर्वी तथा मध्य जिलों में बादल छाए रह सकते हैं।वहींं, राजधानी भोपाल (Bhopal) में ठिठुरन बढने से लोग घरों से बाहर निकलने में परहेज कर रहे हैं। लोगों को दिन के समय ठंडी हवा चलने से तेज सर्दी का एहसास हो रहा है। लोग घरों से निकलने से पहले गर्म कपड़े पहन रहे हैं।

क्या कहता है मौसम विभाग

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पी.के. साहा (PK Saha) ने जानकारी देते हुए बताया कि पश्चिमी जिलों में न्यूनतम तापमान में धीरे-धीरे गिरावट भी होगी क्योंकि उत्तर भारत के पहाड़ों से ठंडी हवाएँ मध्य प्रदेश के अधिकांश जिलों पर पहुँचेगी। पूर्वी जिलों के तापमान में भी 29 नवंबर से धीरे-धीरे कमी आएगी तथा सुबह और रात की सर्दी बढ़ जाएगी। उन्‍होंने बताया, इस सप्ताह भोपाल, इंदौर, उज्जैन, देवास, होशंगाबाद, जबलपुर, सतना, रीवा, खजुराहो, ग्वालियर, गुना समेत समूचे मध्य प्रदेश में मौसम पूरी तरह से शुष्क और साफ रहने की संभावना है। सुबह और रात में धुंध या कुहासा दिखाई दे सकता है लेकिन दिन में खिली धूप के चलते मौसम बेहद खुशनुमा होगा।

रविवार का ऐसा रहा तापमान

रविवार को इंदौर में न्यूनतम तापमान सबसे ज्यादा सामान्य से 5 डिग्री सेल्सियस अधिक 17.2 डिग्री सेल्सियस रहा। यह 5.5 डिग्री चढ़ा। जबकि ग्वालियर में सामान्य से एक डिग्री कम 8.1 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया।हालांकि राजधानी भोपाल और जबलपुर में रात को पारे की चाल सामान्य रही। भोपाल में रात का तापमान 12.6 और जबलपुर में 11.7 डिग्री रहा।

इन राज्यों में बारिश की संभावना
दिसंबर के शुरुआती हफ्ते में दक्षिण के राज्यों में भारी बारिश देखने को मिल सकती है, जिसका जनजीवन पर बुरा असर पड़ सकता है।विभाग की माने तो तमिलनाडु के तटीय और उत्तरी भागों तथा दक्षिणी आंध्र प्रदेश और रायलसीमा क्षेत्र में भीषण वर्षा हो सकती है। 2 तथा 3 दिसंबर की समय सीमा के बीच पुदुचेरी तथा तमिलनाडु के आसपास लैंडफॉल कर सकता है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने दिल्ली-एनसीआर और उत्तर प्रदेश और राजस्थान में अलग-अलग हिस्सों में गुरुवार से रविवार तक हल्की बारिश की भविष्यवाणी की है। तमिलनाडु, पुदुचेरी और कराईकल पर 02 और 03 दिसंबर, 2020 को अलग-थलग स्थानों के साथ कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here