नहीं रहे MP के राज्यपाल: तबियत बिगड़ने से 85 वर्ष की उम्र में लालजी टंडन का निधन

लखनऊ।

मंगलवार की सुबह मध्यप्रदेश(Madhya Pradesh) के साथ-साथ पूरे देश भर में एक बुरी खबर लेकर सामने अाई। जहां एमपी के राज्यपाल लालजी टंडन(MP Governor Lalji Tandon) का मंगलवार सुबह 5:30 बजे निधन हो गया। राज्यपाल टंडन के बेटे आशुतोष टंडन ने इस बात की जानकारी साझा की है। वहीं इससे पहले सोमवार को खबर आई थी कि लालजी टंडन की हालत गंभीर है और वह वेंटिलेटर(Ventilator) पर थे। आज शाम 4.30 बजे उनका लखनऊ में अंतिम संस्कार(Last rites in lucknow) होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) ने भी उनके निधन पर शोक जताया है।

दरअसल लालजी टंडन का निधन 85 वर्ष की उम्र में हुआ है। टंडन को 11 जून को सांस लेने में तकलीफ और बुखार के चलते लखनऊ के मेदांता अस्पताल(Medanta Hospital of Lucknow) में भर्ती कराया गया था। वह लखनऊ(Lucknow) से सांसद भी रहे हैं। तबीयत बिगड़ने के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान(CM Shivraj Singh Chauhan) उनसे मिलने के लिए लखनऊ भी गए थे। शिवराज सिंह चौहान लगातार लालजी टंडन के परिजनों के संपर्क में थे।

पीएम ने भी जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लालजी टंडन के निधन पर शोक जताया। पीएम ने ट्वीट करते हुए लिखा कि श्रद्धेय श्री लालजी टंडन जी को विनम्र श्रद्धांजलि । ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें।

टंडनजी ने हमें सदैव सन्मार्ग पर चलना सिखाया – CM शिवराज
वहीँ प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी लालजी टंडन के निधन पर शोक व्यक्त किया है। शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हे लिखा है कि मध्यप्रदेश के राज्यपाल रहते हुए टंडनजी ने हमें सदैव सन्मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया।राष्ट्र के प्रति उनके प्रेम और प्रगति हेतु योगदान को चिरकाल तक याद रखा जाएगा। आत्मा अजर-अमर है। वे आज हमारे बीच नहीं हैं परंतु अपने सुविचारों द्वारा वे हमारी स्मृतियों में सदैव जीवित रहेंगे।मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि वे दिवंगत आत्मा को शांति दें और शोकाकुल परिजनों को इस वज्रपात को सहने की शक्ति प्रदान करें। ॐ शांति

नरोत्तम मिश्रा ने जताया शोक 

प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा(State Home Minister Narottam Mishra) ने टंडन के निधन पर श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के राज्यपाल श्री लालजी टण्डन जी के निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ। परमपिता परमात्मा से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान प्रदान करें एवं परिजनों को इस दुख की घड़ी में संबल और परिवार को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें ।

वहीँ इससे पहले टंडन को लिवर में दिक्कत होने की वजह से 14 जून को इमरजेंसी ऑपरेशन(Emergency operation) किया गया था। टंडन की हालत में सुधार न होता देख केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बाई पटेल को मध्यप्रदेश का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा था। टंडन, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के बेहद करीबी थे। बीएसपी चीफ मायावती भी लालजी टंडन को अपना भाई मानती थीं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here