पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की जिम्मेदारी निभाने में मेरी रूचि-राज्यमंत्री रामकिशोर कावरे

बालाघाट।सुनील कोरे

प्रतिक्षारत प्रदेश मंत्रीमंडल के मंत्रियांे को विभागों का बंटवार 12 जुलाई को कर दिया जायेगा, ऐसे संकेत मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने दिये है। असल मंे मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने शनिवार को ग्वालियर दौरे के दौरान कहा कि विभागों का बंटवारा मेरा काम है जिसे में कल (रविवार) को कर दूंगा। जिसके बाद साफ हो जायेगा कि किस मंत्री के खाते में कौन सा विभाग आता है। मंत्रीमंडल विस्तार में मंत्री बनाये गये केबिनेट और राज्यमंत्री भी अपने विभागों का इंतजार कर रहे है।

गौरतलब हो कि प्रदेश मंत्रीमंडल के विस्तार के हफ्ते बाद भी विभागों का बंटवारा नहीं होने से मुख्यमंत्री पर विपक्षी दल सवाल खड़े करते आ रहे है। जिसको लेकर मुख्यमंत्री पर भी खासा दबाव है कि वह जल्द से जल्द विभागों का बंटवारा कर दे। देर ही सही, मुख्यमंत्री ने ग्वालियर प्रवास के दौरान कल (रविवार) को मंत्रीमंडल में विभागों का बंटवारा किये जाने की बात कही है, जिसके बाद मंत्री मंडल विस्तार में मंत्री बनाये गये मंत्री, अब विभागों का इंतजार कर रहे है।
किस मंत्री को कौन सा विभाग देना है यह मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है, लेकिन मंत्री बनने के बाद पसंदीदा विभाग में काम करने की सभी की इच्छा और रूचि है, हालांकि यह तो मुख्यमंत्री तय करेंगे कि किसे कौन सा विभाग दिया जायें। हाल में ही हुए प्रदेश मंत्रीमंडल विस्तार में महाकौशल क्षेत्र से इकलौते मंत्री बनाये गये राज्यमंत्री रामकिशोर कावरे की रूचि पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग में है।

उनका कहना है कि जब तक गांव का विकास नहीं होगा, तब तक क्षेत्र ओर प्रदेश का विकास कैसे होगा। पंचायत में काम करने का उनका लंबा अनुभव है, ग्राम पंचायत से लेकर जनपद अध्यक्ष और विधायकी के दौरान वे पंचायत के विकास को लेकर काफी समय से काम करते आ रहे है। जिससे उन्हें पंचायत विकास को लेकर एक अच्छा अनुभव है। हालांकि उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास विभाग उनकी रूचि तो है लेकिन मुख्यमंत्री और पार्टी जो भी उन्हें जिम्मेदारी देती है वह उसका पूरा निर्वहन किया करेंगे। प्रदेश के विकास में कोई विभाग भी मिले तो वह अपने पूरे सामर्थ्य के साथ उस विभाग में काम करने को तैयार रहेंगे।