Naagpanchami Special : दिखा नाग-नागिन का मनोरम जोड़ा, इस दिन दर्शन करना माना जाता है शुभ

जबलपुर।संदीप कुमार

नाग-नागिन के जोड़े को देखना भारत देश में शुभ माना जाता है। जंगल में या घर के आसपास भी नाग और नागिन के जोड़े को देखने से लोगों में दहशत भले फैल जाती हो, लेकिन राह चलते अगर ऐसा दृश्य दिख जाए, तो लोगों के पांव अपने आप ठहर जाते हैं, खासकर जब नाग और नागिन एक-दूसरे के साथ आलिंगनबद्ध होकर प्रेमालाप करते नजर आएं, तो यह दृश्य बड़ा रोमांचक होता है। कुछ ऐसा ही दृश्य मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले अंतर्गत आने वाली शोभापुर पहाड़ी में स्थित सिद्धकुण्ड में नागपंचमी के दिन 25 जुलाई को देखने को मिला। नाग-नागिन के इस प्रेम मिलाप का वीडियो क्षेत्र में ही रहने वाले अमित सिंह गोलू के द्वारा बनाया गया है। अमित सिंह गोलू स्थानीय नागरिक हैं, इनका कहना है कि यहां यह नाग नागिन का जोड़ा न जाने कितने वर्षों से है, जिनके प्रेम मिलाप को अक्सर यहाँ के नागरिक देखा करते हैं, ऐसा ही एक दृश्य उन्हें शनिवार को नागपंचमी को उन्होंने देखा तो उसका वीडियो बना लिया।

फिर नाग-नागिन के जोड़े को प्रेमालाप करते देख लोगों की भीड़ जमा होने लगी, नाग-नागिन का रोमांस देखने के लिए लोग इकठ्ठे हो गए। कहा जाता है कि नाग-नागिन के जोड़े का मिलन करने के दृश्य को देखना शुभ माना जाता है. वहीं माना जाता है कि जब कहीं नाग और नागिन आलिंगनबद्ध होते नजर आ जाएं, तो यह खुशहाली का सूचक होता है. यह प्रेम लीला क्षेत्र में अच्छी बारिश का भी संकेत देती है।

जानकारों की मानें तो मानसून के पहले नाग-नागिन के मिलन का समय होता है और ये प्रेमालाप लंबे समय तक चलता है. इस दौरान नाग-नागिन एक दूसरे से आलिंगन करते हुए दो से तीन फीट ऊपर तक उठ जाते हैं।