मांधाता उपचुनाव : शिवराज की घोषणाओं का दिखा असर, नारायण पटेल की हजारों वोटों से जीत

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की 19 जिलों की 28 सीटों में से खंडवा (Khandwa) जिले की मांधाता विधानसभा सीट (Mandhata Assembly Seat) से परिणाम (Result) सामने आ गए है। यहां बीजेपी प्रत्याशी नारायण पटेल (Narayan Patel) ने कांग्रेस प्रत्याशी उत्तम पाल सिंह (Uttam Pal Singh) को 22 हजार से ज्यादा वोटों से हरा दिया है। मांधाता से भाजपा प्रत्याशी नारायण पटेल 21,999 मतों से विजयी हुई। 22 वें राउंड की गणना में नारायण पटेल को 80004 तथा कांग्रेस के उत्तम पाल सिंह को 58013 और मिले हैं। अभी डाक मतपत्रों की गिनती के परिणाम आना बाकी है।

मांधाता विधानसभा में 3 नवंबर (3 November) को हुए उपचुनाव (By-election) 76.19 प्रतिशत मतदान हुआ था।खास बात ये है कि 2018 में कांग्रेस से नारायण सिंह पटेल ने भाजपा के नरेंद्र सिंह तोमर को 1,236 वोटों के मार्जिन से हराया था, इस सीट पर अब तक हु्ए चुनाव में 2 बार भाजपा और 1 बार कांग्रेस को जीत मिली है, लेकिन यह पहला बार है कि नारायण पटेल ने दल बदलने के बाद भी कांग्रेस को प्रत्याशी उत्तम पाल सिंह को करारी मात दी है।

शिवराज की घोषणाओं का दिखा असर

यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने चार सभाएं की थी ।इसमें उन्होंने मूंदी (Mundi) को तहसील बनाने की घोषणा और संत सींगाजी को पर्यटन स्थल का दर्जा देने का वादा भी किया था।इतना ही नहीं किसानों को फसल बीमा राशि के भी पैसे समय पर खातों में डालने की बात कही गई थी। इसके साथ ही ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) और नरेंद्र सिंह तोमर भी सभाएं कर चुके थे। वही यहां से सांसद नंदकुमार सिंह चौहान (Nandkumar Singh Chauhan) भी जोरों शोरों से मैदान में उतरे थे। पटेल की जीत से चौहान की भी साख दांव पर लगी थी।

कांग्रेस के मुद्दे फेल, विरोध के बावजूद लहराया जीत का परचम

हैरानी की बात तो ये है कि यहां कांग्रेस (Congress) ने पटेल को बिकाऊ-टिकाऊ, खरीद-फरोख्त और प्रजातंत्र की हत्या जैसे आरोप लगाकर कटघरे में खड़ा करने का प्रयास किया गया था , इतना ही नहीं प्रचार के दौरान भी कई जगहों पर पटेल का जमकर विरोध देखने को मिला था, कई जगहों पर तो उन्हें प्रचार के बीच से वापस उल्टे पांव भी लौटना पड़ा था, इसके वीडियो (Video) भी सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल (Viral) हुए थे, बावजूद इसके उन्होंने 20 हजार से ज्यादा वोटों से जीत का परचम लहराया है।

जुलाई में कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा था बीजेपी का दामन

आपको बता दे कि नारायण पटेल वही है जिन्होंने जुलाई में कांग्रेस का हाथ छोड़ BJP का दामन थाम लिया था।इसके बाद उनका बयान भी सामने आया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि भाजपा परिवार में शामिल होकर खुशी महसूस कर रहा हूं। कांग्रेस सरकार के 15 महीनों के शासन में कार्यकर्ता उपेक्षित महसूस कर रहे थे। इतना ही नही पटेल ने आगे कांग्रेस से बेहतर बीजेपी की कार्यशैली को बताते हुए कहा कि देश और प्रदेश में भाजपा सरकारों के काम करने की शैली अलग है। मध्यप्रदेश में शिवराज ने विकास की गंगा बहाई है। मेरे अपने क्षेत्र में भी भाजपा सरकार ने अनेक विकास कार्य और परियोजनाएं शुरू की हैं। उसी को देखते हुए मैंने स्वेच्छा से भाजपा की सदस्यता ली है।

मांधाता सीट पर एक नजर

संभाग: इंदौर

जिलाः खंडवा

कुल वोटरः 1.95 लाख

पुरुष वोटरः 1.01 लाख (51.93%)

महिला वोटरः 94065 हजार (48.04%)

ट्रांसजेंडर वोटर: 3 (0.001%)

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here