नरोत्तम मिश्रा

भोपाल।

मध्यप्रदेश की सियासत में हरपल गतिविधियां बदल रही है। उपचुनाव से पहले दोनों पार्टियों की तरफ से आरोप प्रत्यारोप सहित ऑडियो वीडियो वायरल करने का सिलसिला जारी है। इसी बीच अब दिग्विजय सिंह द्वारा सीएम शिवराज के शेयर किए गए पुराने वीडियो पर मामला गरमा गया है। जिसको लेकर अब दिग्विजय सिंह ने शिवराज पर एफआईआर किया है। इसी पर जब गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि हम तो गृह मंत्री हैं। इसलिए वही बोलेंगे कि हम भी बीमारी से लड़ना है, बीमार से नहीं।

दरअसल मंगलवार को मीडिया से बात करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री की छवि खराब करने के लिए किए गए काम के लिए जहां दिग्विजय सिंह को माफी मांगनी चाहिए थी वहां वह गलती छिपाने की कोशिश कर रहे हैं। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री सिंह की गलती पकड़ में आ गई है। उन्हें जहां माफी मांगना चाहिए था अब वह वह डर्टी पॉलिटिक्स खेल रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मैं तो स्वास्थ्य मंत्री हूं। मैं यही कह सकता हूं कि हमें बीमारी से लड़ना है बीमार से नहीं। वही कोरोना के बारे में सवाल पूछने पर स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मनुष्य का जीवन सिस्टम जितना मजबूत होगा वह कोरोना से बचने में उतना सक्षम होगा।

दरअसल रविवार दोपहर को एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें शिवराज सिंह चौहान (SHIVRAJ SINGH CHAUHAN) को यह कहते हुए बताया गया था कि प्रदेश में आबकारी विभाग कर क्या रहा है । चारों तरफ शराब ही शराब कर दो। लोग पीते रहे और झूमते रहे। प्रथम दृष्टया देखने पर ही यह साफ तौर पर लग रहा था कि इस वीडियो को एडिट करके बनाया गया है । कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह पर आरोप है कि उन्होंने इस वीडियो को एडिट करके वायरल कराया जिसके कारण बीजेपी की छवि धूमिल करने का प्रयास हुआ। जिसके बाद सोमवार को शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक वीडियो को शेयर करते हुए कहा था कि अरे! ये क्या? राहुल जी, भाषण में ही सही, समय पर किसान क़र्ज़ माफ़ी न करने पर आखिरकार आपने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बदल ही दिए! क्या बात है? आप जैसे महान व्यक्ति ही ऐसे बड़े काम चुटकी में कर सकते है। जिसके बाद  ट्वीट करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा है कि मैं शिवराज के ख़िलाफ़ फेक विडियो ट्वीट करने के अपराध में उसी थाने पर FIR दर्ज करने जाउंगा जिस थाने पर मेरे ख़िलाफ़ FIR दर्ज करने भाजपा नेता गये थे।