नरोत्तम मिश्रा का कांग्रेस पर तंज- नोट और वोट के लिए करते है राष्ट्रपिता के नाम का उपयोग

गृह मंत्री ने कहा कि दरअसल कांग्रेस के तथाकथित गांधी राष्ट्रपिता गांधी के सिद्धांतों को आज तक आत्मसात नही कर पाए उन्होंने केवल वोटो और नोटो के लिए ही इस नाम का उपयोग किया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। हिन्दू महासभा के नेता और नाथूराम गोडसे (nathuram godse) की पूजा करने के कारण चर्चा में आये बाबूलाल चौरसिया (babulal chaurasia) को कांग्रेस द्वारा सदस्यता देने पर मध्यप्रदेश के गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) ने कांग्रेस (congress) पर बड़ा हमला बोला है।

मीडिया (media) से चर्चा करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि इस घटना ने कांग्रेस का दोहरा चरित्र सामने लाकर रख दिया है। एक तरफ वह राष्ट्रपिता के हत्यारे नाथूराम गोडसे के समर्थकों को देशद्रोही बताती है और दूसरी तरफ चुनाव में फायदा लेने के लिए गोडसे की पूजा करने वाले बाबूलाल चौरसिया को सम्मान अपनी पार्टी में शामिल करती है। फूल माला और गुलदस्ते से उनका स्वागत करती है।

Read More: दर्दनाक घटना से सेवढ़ा नगर के लोग सहमे, पुलिस ने दी दुकानदारों को समझाइश

गृह मंत्री ने कहा कि दरअसल कांग्रेस के तथाकथित गांधी राष्ट्रपिता गांधी के सिद्धांतों को आज तक आत्मसात नही कर पाए उन्होंने केवल वोटो और नोटो के लिए ही इस नाम का उपयोग किया है। यही नही देश के महापुरुष चाहे वह डॉ अम्बेडकर हो या सरदार वल्लभ भाई पटेल इनका उपयोग भी कांग्रेस ने केवल वोटों के लिए किया। कांग्रेस का इनके प्रति कितना श्रद्धा भाव है यह इससे ही समझा जा सकता है कि गुजरात में स्थापित सरदार पटेल की दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा पर कोई बड़ा कांग्रेसी नेता आज तक नही गया।

बता दे कि बाबूलाल चौरसिया 2017 में तब चर्चा में आये थे। जब ग्वालियर में नाथूराम गोडसे की मूर्ति की स्थापना के लिए वह पूजा कार्यक्रम में शामिल हुए थे। तब कांग्रेस ने इस पूजा कार्यकम का भारी विरोध किया था। वर्तमान में चौरसिया हिंदू महासभा से ग्वालियर नगर निगम वार्ड-44 के पार्षद हैं ओर इसी वार्ड में नाथूराम गोडसे का मंदिर भी है। नगरीय निकाय चुनाव को देखते हुए ही संभवतः कांग्रेस ने उन्हें पार्टी में शामिल कराया है।