नरोत्तम मिश्रा का कमलनाथ पर बड़ा बयान, सियासी हलचल तेज

मध्यप्रदेश रामराज्य स्थापित करने की कल्पना सिर्फ बातों में नहीं है यह धरातल पर भी है। प्रदेश में राम राज्य को साकार करने का कार्य मध्य प्रदेश सरकार कर रही है। इसलिए अपराधी कितने भी बड़े हो। मध्य प्रदेश की सरजमी को छोड़ दे नहीं तो हश्र दिलीप देवल जैसा होगा।

narottam mishra

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) संविदा नियुक्ति को लेकर स्वास्थ्यकर्मियों (Health workers) के प्रदर्शन पर पुलिस (police) ने लाठीचार्ज किया है। बीते दिनों इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (kamalnath) ने शिवराज सरकार (shivraj government) को घेरा था।इस मामले में अब गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) ने बड़ा बयान दिया है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि जिसने अपने घोषणा पत्र में शामिल करने के बाद अतिथि विद्वानों को आज तक परमानेंट नहीं किया। ऐसे लोगों को बोलने का अधिकार नहीं।

दरअसल शुक्रवार को मीडिया (media) से चर्चा करते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कड़ाके की ठंड में अतिथि विद्वान अपने परमानेंट होने की मांग को लेकर प्रदर्शन पर बैठे थे। तब मुख्यमंत्री रहे कमलनाथ बल्लभ भवन के पांचवे तल से नीचे तक नहीं आते थे। ऐसे लोगों को स्वास्थ्यकर्मियों के लिए बोलने का कोई अधिकार नहीं है।

बच्चों की मौत पर बोले नरोत्तम 

शहडोल में लगातार हो रहे बच्चों की मौत पर बोलते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि इस मामले में जल्द ही स्वास्थ्य मंत्री लोगों के सामने आएंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार और शिवराज सरकार में एक ही अंतर है कि कमलनाथ सरकार कागज पर कार्रवाई करती थी और हम धरातल पर कार्रवाई करते हैं।

उपाध्यक्ष पद की मांग को लेकर बोले नरोत्तम 

वहीं विपक्ष द्वारा उपाध्यक्ष पद की मांग को लेकर बोलते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि जब कमलनाथ सरकार में थे। तब उन्होंने परंपरा तोड़ी। जहां उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को मिलना चाहिए था। उन्होंने अपने पास रखा तो अब किस अधिकार से वह उपाध्यक्ष के पद की मांग कर रहे हैं।

पुलिस कार्रवाई की सराहना

रतलाम में ट्रिपल मर्डर हादसे के मुख्य आरोपी दिलीप देवल को पुलिस ने बीती रात एनकाउंटर में मार गिराया। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस मामले में पुलिस कार्रवाई की सराहना करते हुए कहा है कि मध्य प्रदेश में दुर्दांत अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने पुलिस की कार्यशैली की सराहना की है और कहा है कि वह जल्द ही इस घटना में घायल हुए पुलिस जवानों से भी चर्चा करेंगे।

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश में कानून का राज्य है। मध्यप्रदेश रामराज्य स्थापित करने की कल्पना सिर्फ बातों में नहीं है यह धरातल पर भी है। प्रदेश में राम राज्य को साकार करने का कार्य मध्य प्रदेश सरकार कर रही है। इसलिए अपराधी कितने भी बड़े हो। मध्य प्रदेश की सरजमी को छोड़ दे नहीं तो हश्र दिलीप देवल जैसा होगा।

कुपोषण से कोई मौत ना हो- नरोत्तम 

इधर प्रदेश में कुपोषित मौत पर बोलते हुए गृह मंत्री ने कहा कि कुपोषण से कोई मौत ना हो। इसके लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है और इसके लिए विशेष अभियान चलाए जाएंगे। बता दे कि आज गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा कोरोना वैक्सीन ट्रायल के लिए राजधानी के पीपुल्स मेडिकल कॉलेज पहुंचने वाले हैं। डॉक्टर से चर्चा करेंगे और इसके बाद कोरोना वैक्सीन ट्रायल का टीका लगाएंगे।