नरोत्तम बोले- बीजेपी पर आरोप लगाने के लिए माफ़ी मांगे कमलनाथ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) में जहां एक तरफ शिवराज सरकार(Shivraj government) के देशवासियों के लिए बड़े-बड़े दावे कर रही है। वहीं दूसरी तरफ विपक्ष(Opposition) लगातार विभिन्न मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश में लगा हुआ है। आए दिन एक नए मुद्दे पर विपक्ष लगातार शिवराज सरकार पर निशाना बनाए हुए हैं। वहीं पिछले दिनों सीहोर(sehore) में किसान की आत्महत्या के मामले में कांग्रेस(congress) ने शिवराज सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। जिसके बाद आज प्रेस कॉन्फ्रेंस(Press conference) करते हुए प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा(Home Minister Narottam Mishra) ने कहा कि कांग्रेस को क्रोकोडाइल आंसू बहाने की आदत है। उसके पास कुछ बताने को बचा नहीं है। इसलिए इस तरह की राजनीति कर रही है। कमलनाथ(Kamalnath) को अपनी इस राजनीति के लिए माफी मांगनी चाहिए।

दरअसल प्रेस कांफ्रेंस में बोलते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि किसान की आत्महत्या पर कांग्रेस ओछी सियासत कर रही है। मृतक किसान के बेटे ने साफ कर दिया है कि लंबे समय से बीमार रहने के चलते उनका मानसिक संतुलन ठीक नहीं चल रहा था। कांग्रेस को ऐसे संवेदनशील विषय पर ट्विटर की राजनीति छोड़ कर पीड़ित परिवार के बीच जाना चाहिए। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि किसान के बेटे ने कहा कि उनका मन भटका हुआ था। जिस कारण उसने आत्महत्या की। वहीँ उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस क्रोकोडाइल आंसू बहा रही है। कांग्रेस के पास कुछ बताने के लिए नही है।

कमलनाथ को मांगनी चाहिए माफ़ी

इधर घटिया चावल मामले पर बोलते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि “उन्होंने गरीबों के ज़ख्म का कुछ यूं किया इलाज़, मलहम भी लगा रहे हैं तो खंजर की नोंक से” घटिया चावल तो पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की सरकार ने ही खरीदे थे। पोल खुली तो वो अब वो ट्वीट कर भाजपा सरकार पर इल्ज़ाम लगा रहे हैं। उन्हें तो घटिया अनाज की खरीद के लिए गरीबों से माफ़ी मांगनी चाहिए। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि घटिया चावल देने वालों पर कार्रवाई हमारे सरकार ने की उन्हें पकड़ा हमारी सरकार ने और कमलनाथ बीजेपी पर ही आरोप लगा रहे। मिश्रा ने कहा कि ट्वीट करके आरोप लगाने की जगह कमलनाथ को माफ़ी मांगनी चाहिए।

केंद्र ‌सरकार‌ के PUBG बैन फैसले का स्वागत

वहीं भारत सरकार द्वारा #PUBG सहित 118 चाइनीज ऐप को बैन कर दिया गया है जिसपर बोलते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि #PUBG का बच्चों के‌ मानसिक‌ ‌स्वास्थ्य‌ पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ रहा था‌ और लंबे समय‌‌ से देश में इस‌ पर बैन‌ लगाने के‌ लिए‌ आवाज‌ उठ रही थी। ‌केंद्र ‌सरकार‌ के इस फैसले का आज पूरे देश में स्वागत हो रहा है। अब इससे छूटने के बाद युवा को अपने भविष्य के बारे सोचने का मौका मिलेगा।

बता दें कि बीते दिनों सीहोर में एक किसान ने आत्महत्या कर ली थी जिसपर शिवराज सरकार को घेरते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा था मुख्यमंत्री के गृह ज़िले सिहोर में एक किसान ने फ़सल ख़राब होने पर आत्महत्या कर ली। प्रदेश के बड़े हिस्से में पूर्व में ही सोयाबीन की फ़सल ख़राब हो चुकी है और अब अतिवर्षा व बाढ़ से भी क़रीब 15 लाख हेक्टेयर फ़सल प्रदेश के बाढ़ प्रभावित विभिन्न जिलो में ख़राब हुई है। वहीं कमलनाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री घूम- घूम कर निरीक्षण कर सिर्फ़ कोरे आश्वासन थमा रहे है, राहत नहीं। आज किसान राहत की माँग कर रहा है। बाढ़ प्रभावित इलाक़ों के लोग राहत की माँग कर रहे है। जिसके बाद ये मुद्दा काफी गरमा गया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here