नरोत्तम की दिग्विजय को सलाह- कांग्रेस नेता ऐसा करे..शायद भागमभाग रुक जाए

भोपाल

कोरोना संकटकाल में एमपी में उपचुनाव से पहले ट्वीट वार तेजी से चल रहा है। चाहे मुद्दा कोई भी हो सत्तापक्ष और विपक्ष एक दूसरे को घेरने से बाज नही आ रही है।अब पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने भोपाल में लॉकडाउन के दौरान विधायकों की खरीद-फरोख्त जारी रहने की बात कही ।वही इस पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने शायराने अंदाज में पलटवार करते हुए कहा है किकांग्रेस अपने विधायकों को गाना सुनाएं “आज जाने की जिद न करो, यूं ही पहलू में बैठे रहो।” शायद भागमभाग रुक जाए।

दिग्विजय ने ट्वीट कर लिखा है कि वैसे तो भोपाल लॉक डाउन रहेगा लेकिन आवश्यक वस्तु अधिनियम में विधायकों कि आपूर्ति — जारी रहेगी” हॉट लाइन। भाजपा द्वारा भारतीय संविधान में निर्वाचित विधायकों व संसद सदस्यों द्वारा शपथ के प्रारूप में संशोधन करने का प्रस्ताव ।मैं __विधि द्वारा स्थापित की शपथ लेता / लेती हूँ कि जब तक में अपने जमींर को सिद्धांत को स्वाभिमान को मतदाताओ के जन मत को नही बेच दूँगा / दूँगी तब तक चैन कि नींद नही लूँगा / लूँगी ।में खाऊँगा भी और खिलाऊँगा भी क्यों कि घर द्वार आती लक्ष्मी जी को में कैसे मना कर सकता हुँ। हॉट लाइन

इस पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस को मेरी एक नेक सलाह है कि इसके नेता अपने विधायकों को एक साथ बैठाकर ये गाना सुनाएं कि….. “आज जाने की जिद न करो, यूं ही पहलू में बैठे रहो।” शायद ये गाना सुनकर भागमभाग रुक जाए। दरअसल कांग्रेस का कुनबा खुद इसके नेतृत्व की नाकामी से बिखर रहा है।आगे लिखा है कि इनके लफ्जों के जहर से बचना लोगों, सांप भी इनसे उधार लेते हैं कुछ लोगों की आदत हो गई है..इनके एक शब्द, एक ट्वीट, कोई बता दे जिसमें समाजहित की बात हो..जब भी उगलते हैं आग ही उगलते हैं। इसीलिए पहले पार्टी से, फिर जनता से दरकिनार हुए और अब ट्विटर भी दरकिनार कर रहा है।

बता दे कि सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के बाद से ही कांग्रेस विधायकों के इस्तीफों का दौर जारी है। एक के बाद एक कांग्रेस विधायक इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हो रहे है।सिंधिया समर्थक 22 विधायकों के बाद हाल ही में 3 विधायकों ने इस्तीफा दिया है, जिसके बाद से सियासत गर्माई हुई है। इतना ही सियासी गलियारों में तो आने वाले दिनों में 4-5 और विधायकों के टूटने की चर्चा है।