पंजाब : आंतरिक कलह की खबरों के बीच भगवंत मान से मिलेंगे नवजोत सिंह सिद्धू

पंजाब विधानसभा चुनाव में हार का मुंह देखने के बाद उनके के बारे कहा जा रहा है कि बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुए सिद्धू एक बार फिर से पाला बदल सकते है। पिछले काफी समय से सिद्धू को पार्टी में ही आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। पिछले काफी समय से अपनी पार्टी के खिलाफ बगावती तेवर दिखा रहे नवजोत सिंह सिद्धू ने एक बार पंजाब राजनीति में सियासी गर्मी को बढ़ा दिया है। सिद्धू सोमवार को पंजाब के सीएम भगवंत मान से मुलाकात करने जा रहे हैं। उन्होंने खुद ट्विटर पर इस बात की जानकारी दी है।

पंजाब विधानसभा चुनाव में हार का मुंह देखने के बाद उनके के बारे कहा जा रहा है कि बीजेपी से कांग्रेस में शामिल हुए सिद्धू एक बार फिर से पाला बदल सकते है। पिछले काफी समय से सिद्धू को पार्टी में ही आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

बता दे पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान सिद्धू पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष थे, शीर्ष स्तर का नेता होने के बावजूद उन्हें अमृतसर ईस्ट सीट से हार का सामना करना पड़ा था, जिसके बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

प्रदेश में आर्थिक सुधारों को लेकर मुलाकात

हालांकि, सिद्धू के ट्ववीट के मुताबिक, उनकी भगवंत मान से ये मुलाकात पंजाब की आर्थिक स्थिति में सुधार को लेकर है। उन्होंने लिखा, ” कल शाम 5:15 बजे सीएम भगवंत मान से मिलेंगे, चंडीगढ़ में पंजाब की अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार के मामलों पर चर्चा करने के लिए। . . पंजाब का पुनरुत्थान एक ईमानदार सामूहिक प्रयास से ही संभव है।”

पंजाब प्रभारी सोनिया गांधी को लिख चुके के चिट्ठी

कांग्रेस के पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश चौधरी ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर प्रदेश इकाई के पूर्व प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की मांग की थी। पंजाब कांग्रेस उनके हालिया बयानों से काफी नाराज थी।

उन्होंने लिखा था, ‘”अध्यक्ष महोदया, सिद्धू को खुद को पार्टी से ऊपर दिखाने और पार्टी अनुशासन भंग करने के संबंध में दूसरों के लिये उदाहरण बनने की अनुमति नहीं दी जा सकती। इसलिए, यह सिफारिश की जाती है कि सिद्धू से इसे लेकर स्पष्टीकरण मांगा जाना चाहिए कि उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई क्यों न शुरू की जाए।”