शिवराज ने की राज्यपाल से मुलाकात, मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें तेज़, 22 मंत्री ले सकते हैं शपथ

भोपाल

मई के पहले हफ्ते में शिवराज मंत्रिमंडल (shivraj cabinet) का विस्तार (expansion) हो सकता है। संभावना है कि लॉकडाउन (lockdown) खत्म होते ही 6 मई (6 may) या उससे पहले की शिवराज कैबिनेट का विस्तार (cabinet expansion) हो सकता है। सूत्रों से प्राप्त खबरों के मुताबिक इसी सिलसिले में शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने राज्यपाल लालजी टंडन (Governor Lalji Tondan) से मुलाकात की है और 4 मई (4 may) को वो दिल्ली (Delhi) जाकर हाईकमान से भी मुलाकात करने वाले हैं। चर्चा है कि दूसरी बार शपथ (oath) लेने वाले मंत्रियों (ministers) में कमलनाथ सरकार (kamalnath government) को गिराने में अहम भूमिका निभाने वाले कई बीजेपी विधायकों (bjp mla) और सिंधिया समर्थकों (scindia supporters) को जगह दी जा सकती है। फिलहाल शिवराज के मिनी कैबिनेट (mini cabinet) में पांच मंत्री (5 ministers) है।

बता दें कि सरकार (government) बनाने के बाद लंबे समय तक सीएम शिवराज (cm shivraj) ने ही कोरोना क्राइसिस के बीच अकेले सारी बागडोर थामी थी। लेकिन इस मामले में लगातार कांग्रेस (congress) द्वारा घेरे जाने के बाद 21 अप्रैल को मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में सरकार बनाने के 29 दिन बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल (cabinet) का विस्तार किया था। हालांकि ये भी पंच परमेश्वर की तर्ज पर केवल 5 मंत्रियों वाला कैबिनेट ही था। अब जब दो दिन बाद दूसरे लॉक डाउन (lockdown) की समय सीमा भी समाप्त होने जा रही है , ऐसे में शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार (cabinet expansion) की अटकलों ने फिर जोर पकड़ लिया है।

सूत्रों की मानें तो 6 मई को शिवराज कैबिनेट (shivraj cabinet) का विस्तार हो सकता है। 3 मई को लॉक डाउन खत्म होते ही 4 मई को शिवराज दिल्ली (Delhi) जा सकते है और वहां हाईकमान और सिंधिया (scindia) से चर्चा के बाद मंत्रिमंडल विस्तार किया जा सकता है। बता दें कि कई वरिष्ठ नेता मंत्रीपद की कतार में हैं, फिलहाल संभावना जताई जा रही है कि 22 मंत्री शपथ ले सकते हैं।

वही चर्चा इस बात की भी है कि पूर्व मंत्री विजय शाह (vijay shah) और यशोधरा राजे सिंधिया (yashodhara raje scindia ) की छुट्टी हो सकती है, वहीं समर्थन देने वाले निर्दलीय को जगह नही दी जाएगी। इधर, विधानसभा अध्यक्ष (speaker) के लिए जगदीश देवड़ा (jagdish devda), सीताचरण शर्मा (sitacharan sharma) और गोपाल भार्गव (gopal bhargava) का नाम भी चर्चा में बना हुआ है।

बता दे कि 230 सदस्यीय विधानसभा (vidhan sabha) में सदस्यों की संख्या के लिहाज से मंत्रिमंडल (cabinet) में 15 फीसदी यानी 35 सदस्य ही हो सकते हैं, जिनमें मुख्यमंत्री (cm) भी शामिल हैं। शिवराज (shivraj) समेत अब कैबिनेट में 6 सदस्य हैं। 28 विधायकों को बाद में मंत्री (minister) बनाया जा सकता है। फिलहाल मंत्रिमंडल में पांच कैबिनेट मंत्री है।

बीजेपी से इनको बनाया जा सकता है मंत्री
भूपेन्द्र सिंह
गोपाल भर्गव
रामपाल सिंह
विश्वास सारंग
गौरीशंकर बिसेन
केदारनाथ शुक्ला
गिरीश गौतम
नीना वर्मा
रमेश मेंदोला
मालिनी गौड़
अरविंद भदौरिया
ओम प्रकाश सकलेचा
सीतासरण शर्मा
जगदीश देवड़ा
मोहन यादव
संदय पाठक
बिसाहू लाल सिंह
राम लल्लू वैश्य
जालम सिंह पटेल
करण सिंह वर्मा
गायत्री राजे पंवार
यशपाल सिंह सिसौदिया

सिंधिया समर्थकों में से इनको मिल सकता है स्थान
इमरती देवी
प्रदुम्न सिंह तोमर
महेन्द्र सिसौदिया
प्रभुराम चौधरी
हरदीप सिंह डंग
एंदेल सिंह कंसाना
राज्यवर्धन सिंह दतिगांव