NIVAR : तमिलनाडु-पुडुचेरी तट से टकराने के आसार, धारा 144 लागू, ट्रेन-फ्लाइट्स रद्द

चक्रवात बंगाल की खाड़ी की ओर से आएगा और तमिलनाडु के मल्लपुरम और करेकल के बीच दस्तक देगा। हालांकि बाद में इसके आंध्र प्रदेश की तरफ बढ़ने की भी संभावना जताई गई है।

Nivar

चेन्नई, डेस्क रिपोर्ट। बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) में बना निम्न दाब से उठा ‘निवार’ (NIVAR) चक्रवात तूफान तेजी से आगे बढ़ता जा रहा है। आज बुधवार शाम तक इसके तमिलनाडु-पुडुचेरी के तट से टकराने की संभावना है, इस दौरान रफ्तार 120-130 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है।इसके असर को देखते हुए  तमिलनाडु(Tamil Nadu) और पुडुचेरी (Puducherry) में धारा 144 (Section 144) लागू कर दी गई है।सभी ट्रेनों (Trains) और हवाई उड़ानों (Air flights) को रद्द कर दिया गया है। तमिलनाडु के शिक्षण संस्‍थानों में छुट्टी घोषित की गई है।

इससे भारी तबाही की आशंका को देखते हुए NDRF की टीम ने मोर्चा संभाल लिया है। तमिलनाडु, पुडुचेरी तथा आंध्र प्रदेश में करीब 1,200 जवान तैनात और 800 जवानों को रिजर्व में रखा गया है।फिलहाल निवार तूफान पूश्चिम-पश्चिमोत्तर की ओर बढ़ रहा है और कुछ घंटो बाद इसके उत्तर-पश्चिम की ओर मुड़ने का अनुमान है, जोकि कुड्डालोर के पूर्व और दक्षिण पूर्व में 310 किमी दूर है। पुडुचेरी से इसकी दूरी 350 किमी और चेन्नई से 370 किमी दूर है। अगले 6 घंटों में इसके और ज्यादा खतरनाक होने की आशंका बढ़ती जा रही है।

मौसम विभाग (Weather Department) के मुताबिक, निवार लगातार गंभीर होता जा रहा है और बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना हुआ है। ये कडालूर से 310 किमी दूर है और अगले 12 घंटे में ये और खतरनाक तूफान में तब्दील हो जाएगा।  इंडिगो विमान सेवा (Indigo Airlines) ने बयान जारी कर कहा कि चक्रवात निवार के कारण इंडिगो उड़ानों दक्षिणी क्षेत्र से मुख्य रूप से चेन्नई (Chennai) को बाधित रहेंगी। कल के लिए निर्धारित 49 उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। हम स्थिति पर नजर रखेंगे और  आगे के लिए फैसला करेंगे।

मौसम विभाग ने भी दी भारी बारिश की चेतावनी

वही मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि 24 नवंबर से 26 नवंबर के बीच तमिलनाडु पांडिचेरी के साथ आंध्र प्रदेश में भारी बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ेगी। इसके साथ ही 100-150 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं भी चलेंगी। वहीं तमिलनाडु के पेरंबलूर, कल्लकुरूचि, पांडिचेरी, विल्लुपुरम, चैंगलपट्टू में बुधवार गुरुवार को भारी बारिश (Heavy Rain) की संभावना है। चक्रवाती तूफान को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय आपदा राहत बल (National disaster relief force) ने बचाव कार्य के लिए 30 दलों को तैयार कर लिया है।

 NDRF ने संभाला मोर्चा

एनडीआरएफ (NDRF) के अधिकारी का कहना है कि 12 दल को पहले ही तैयार कर दिया गया है जबकि 18 अन्य दल राज्य और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में तैनात के लिए तैयार हैं। इधर दूसरी तरफ कैबिनेट सचिव राजीव गोवा की अध्यक्षता में एनडीआरएफ समिति ने सोमवार को बैठक की और राज्य सरकारों से किसी भी तरह की जनहानि ना होने जैसी स्थिति बहाल करने के निर्देश दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here