अब कोरोना गाइडलाइन पर सियासत शुरू, कांग्रेस ने गणेशोत्सव और ईद को लेकर की ये मांग

भोपाल।

मध्यप्रदेश में कोरोना की रफ्तार अपनी पिक पर है। प्रदेश में संक्रमण के मामले हर दिन के मुकाबले दूसरे दिन और तेजी से बढ़ते नजर आ रहे हैं। आए दिन बढ़ते संक्रमित की संख्या एक तरफ जहां प्रशासन की नींद उड़ाई है। वहीं दूसरी तरफ राज्य शासन की गाइडलाइन आम जनता की उम्मीदों पर भी पानी फेर दिया है। इसी बीच अब गाइडलाइन को राजनीति खबर देते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने इस पर सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेसी नेताओं का कहना है कि अगर प्रदेश में शराब दुकानें और मॉल खोली जा सकती हैं। तो फिर गणेश पंडाल लगाने और मोहर्रम जुलूस निकालने में क्या दिक्कत है।

दरअसल मध्यप्रदेश में कांग्रेस के पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ नेता पीसी शर्मा ने राज्य शासन के द्वारा जारी किए गए गाइडलाइन पर सवाल उठाते हुए प्रदेश में गणेश पंडाल लगाने एवं मोहर्रम के जुलूस निकालने की अनुमति देने की मांग की है। मीडिया से बात करते हुए पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश में अगर मॉल खुल सकते हैं, संस्थाएं खुल सकती है, शराब दुकानें खोली जा सकती हैं तो गणेश पंडाल लगाने की भी अनुमति सरकार को देनी चाहिए। यह लोगों की धार्मिक भावनाओं का प्रश्न है। इसके साथ ही पूर्व मंत्री ने कहा कि लोगों की धार्मिक भावनाओं को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार को मोहर्रम में जुलूस निकालने की अनुमति देनी चाहिए।

बता दें कि करुणा के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार ने बड़ा फैसला लिया था। जिसके मुताबिक इस वर्ष सार्वजनिक रूप से गणेश उत्सव मनाने पर रोक बनी रहेगी। लोग घर पर ही श्री गणेश की पूजा करेंगे। इसके साथ ही ईद के सामूहिक कार्यक्रम भी नहीं किए जाएंगे। वही धार्मिक स्थलों पर 5 से ज्यादा लोगों को जाने की अनुमति नहीं होगी। विवाह उत्सव में दोनों पक्षों की तरफ से देश 10 व्यक्तियों से अधिक लोगों के सम्मिलित होने पर रोक रहेगी। वहीं अंतिम संस्कार में सिर्फ 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी। सरकार द्वारा जारी इस गाइडलाइन के बाद अब कांग्रेस की तरफ से यह मांग निश्चित है राजनीतिक मुद्दे को हवा देना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here