अब कर्मचारी-अधिकारी क्वारेंटाइन, एक अफसर ने PC में पत्रकार से मिलाया था हाथ

KAMAL NATH

भोपाल।

कमलनाथ की पीसी का बवाल अभी थमा नही है। पत्रकारों और नेताओं के बाद कर्मचारियों पर कोरोना का खतरा मंडराता हुआ नजर आ रहा है। इसके चलते जनसंपर्क विभाग के सभी कर्मचारियों को क्वारेंटाइन किया गया है।खबर है कि कमलनाथ की पत्रकार वार्ता के बाद कोरोना पॉजिटिव पत्रकार ने जनसंपर्क विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी से हाथ मिलाया था। ये अधिकारी मीडिया को दिए जाने वाली प्रेस विज्ञप्तियों की जिम्मेदारी संभालते हैं। वही कई अधिकारियों के भी संपर्क में आए थे। इसके चलते सभी कर्मचारियों को क्वारेंटाइन किया गया है।

दरअसल 20 मार्च को राजधानी भोपाल के सीएम हाउस में तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रेस कांफ्रेंस हुई थी। जहां पहुंचे पत्रकार का कोरोना संक्रमण पॉजिटिव आने के बाद प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद सभी अधिकारियों और सरकार ने खुद को कवरांटाइन करने का आदेश दिया था। जानकारी के मुताबिक उस पत्रकार वार्ता में अधिकारी उस संक्रमित पत्रकार के संपर्क में आए थे। जिसके बाद कुछ अधिकारी वानगंगा स्थित जनसंपर्क विभाग में पहुंचकर कर्मचारियों के बगल में बैठ प्रेस विज्ञप्ति में संशोधन करवाया था। इसलिए सुरक्षा के मद्देनजर संक्रमित पत्रकार से मिलने वाले एवं उनके संपर्क में आने वाले सभी अधिकारियों ने खुद को अपने घर में ही क्वॉरेंटाइन कर लिया है।बता दें कि इससे पहले कई पूर्व मंत्री, विधायक, पत्रकारों ने पहले ही खुद को क्वालरेटन किया है

गौरतलब हो कि पत्रकार की बेटी के रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद 25 मार्च को पत्रकार की भी जांच की गई। जिसमें वह कोरोना से संक्रमित निकले। उनके संक्रमण की बात सामने आते ही प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद सभी कर्मचारियों की जांच कराई गई। हालांकि जांच में किसी के संक्रमित होने के लक्षण नहीं मिले किंतु सुरक्षा को देखते हुए इन दोनों स्थानों से करीबन 50 कर्मचारियों को अपने ही घर में खुद को क्वॉरेंटाइन करने को कहा गया। जहां उन्हें यह निर्देश दिए गए कि वह अपने परिवार वालों के संपर्क में भी ना आए। वहीं स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर्स लगातार इन कर्मचारियों की अपडेट ले रहे हैं।