अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही ये तस्वीर

इंदौर। आकाश धोलपुरे।

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है,जिसमें एक पुलिसकर्मी घर के बाहर खाना खाते हुए नजर आ रहा है और बेटी अपने पिता को दरवाजे से झांकती हुई दिखाई दे रही है। यह तस्वीर इंदौर में तुकोगज के टीआई निर्मल श्रीवास की है। शनिवार को जब वे भोजन करने घर पहुंचे, तब पत्नी ने ये मार्मिक पल कैमरे मे कैद किया। रात को पापा को अपने बिस्तर पर ना पाकर मासूम बेटी काफी देर तक सोती नही है। कोरोनावायरस की ड्यूटी के चलते वे रात में घर न जाकर होटल में रुकते हैं। पिछले 5 दिन से ऐसा ही कर रहे हैं। दिन में सिर्फ एक बार भोजन करने घर जाते हैं। इस दौरान भी परिवार से दूर बैठते हैं।

वायरल हो रही तस्वीर दर्द भी है, विश्वास भी और साथ ही है वो मर्म, जो रिश्तों के दर्द को तो बयां करता है। इसके साथ ही देश सेवा का भाव भी एक तस्वीर बताने के लिए काफी है। ये तस्वीर उन लोगो पर तमाचा भी मानी जा रही है जो कर्मवीर डॉक्टर्स पर हमला कर उन्हें अपने क्षेत्र से बाहर भागने पर मजबूर करते है। ये तस्वीर उन लोगो के चेहरों पर कालिख पोतने के लिए काफी है जो कभी स्वास्थ्य विभाग की टीम पर थूकते और गाली भी देते है।

दरअसल, खुद में हजारों कहानी समेटे हुए सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर इंदौर के तुकोगंज थाने में पदस्थ टीआई निर्मल श्रीवास की है जिसमे वो अपनी नन्ही बेटी से दूर बैठकर घर के बाहर बरामदे में ही भोजन कर अपनी नन्ही परी को निहार भी रहे है। तस्वीर में उनके हाथ मे भले ही रोटी का आखरी निवाला है और कुछ टमाटर की कतरन और थोड़ी सी रसेदार सब्जी दिख रही हो लेकिन दिल को छू लेने वाली ये तस्वीर, कोरोना वायरस की त्रासदी को बताने के लिए काफी है। ऐसे में ये तस्वीर आप और हमको ये बताने के लिए काफी है कि कोरोना का संकट इंदौर में तेजी से बढ़ रहा है बावजूद इसके हम सबकी सेवा में जुटे कर्मवीर अपनो से दूर सिर्फ हमारे लिए है ऐसे में हम सबकी जिम्मेदारी है कि हम अपना एक योगदान दे और वो ये है कि हम सब समाज से कुछ दिन के लिए तो दूरी बनाकर रखे ताकि कोरोना रूपी राक्षस का दहन हो सके।

कमलनाथ ने भी किया सलाम

इस तस्वीर को पूर्व सीएम कमलनाथ ने भी ट्वीट कर पुलिसकर्मी को सलाम किया है।उन्होंने ट्वीट करके लिखा है किकोरोना महामारी के इस दौर में कई डॉक्टर्स , मेडिकल स्टाफ़ ,अधिकारी -कर्मचारी गण ,पुलिस कर्मी अपने परिजनो को संक्रमण से बचाने के लिये उनसे दूर रहकर रात-दिन फ़ील्ड में रहकर जनता की सुरक्षा के लिये अपनी अमूल्य सेवाएँ दे रहे है। इन कर्मयोद्धाओ की सेवाओं को सदैव याद रखा जायेगा।