कोरोना पॉजिटिव नर्स करा रही थी प्रसूताओं की डिलीवरी, रिपोर्ट मिलने के बाद मचा हड़कंप

सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार
एक तरफ आज जिले में लॉकडाउन खत्म हुआ है वही दूसरी तरफ जिले में एक बार फिर एक बड़ा कोरोनावायरस धमाका हुआ है | जहां एक साथ 9 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है| सबसे ज्यादा परेशान करने वाली बात यह है कि कोरोनावायरस ने जिले के ट्रामा सेंटर में अपनी आमद दर्ज करवाई है जहां 1 स्टाफ नर्स कोरोनावायरस पॉजीटिव पाई गई है|

जिले के बेलौजी एनसीएल बाउंड्री में बने ट्रामा सेंटर में कोरोना वायरस ने अपनी आमद दर्ज करवाई है यहां संविदा स्टाफ नर्स कोरोनावायरस पॉजीटिव पाई गई है | यह स्टाफ नर्स गायनी वार्ड में आज तक काम कर रही थी, जैसे ही रिपोर्ट पॉजिटिव आई पूरे ट्रामा सेंटर में हड़कंप मच गया| क्योंकि गायनी वार्ड में एक तो स्टाफ नर्स लगातार इलाज कर रही थी कई डॉक्टर, नर्सेज और मेडिकल स्टाफ के डायरेक्ट संपर्क में यह नर्स रही है | इस वजह से पूरे ट्रामा सेंटर में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है|

एस्सार टाउनशिप में भी कोरोना की दस्तक
बताया जा रहा है कि एक कोरोना पॉजीटिव SR टाउनशिप पर भी मिला है| अपने आप में सुरक्षित मानी जाने वाली इस टाउनशिप के भीतर आखिर कोरोना वायरस की एंट्री कैसे हो गई यह बड़ा सवाल है इसको लेकर अब प्रशासन लगातार इनके कांटेक्ट ट्रेस कर रहा है|

जिले में आज कुल 9 रिपोर्ट रीवा से पहुंची है जो पॉजिटिव है इसमें चितरंगी इलाके सहित बैढन और अलग-अलग क्षेत्रों के लोग शामिल बताए जा रहे हैं जिला प्रशासन अब लगातार इनके कांटेक्ट हिस्ट्री तलाशने में जुटा हुआ है अभी 1 दिन पहले ही एक साथ 25 लोग कोरोना/वायरस संक्रमित पाए गए थे जिसमें अकेले जेल में 21 लोग कोरोनावायरस पॉजिटिव पाए गए थे

जिला स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी पर उठ रहे सवाल,होम क्वारंटाइन करने के बजाय क्यो करवाई जा रही थी ड्यूटी
ट्रामा सेंटर में स्टाफ नर्स के कोरोना पॉजिटिव आने से ट्रामा सेंटर में हड़कम्प सा मच गया है क्योकि नर्स लगातार अस्पताल में ड्यूटी कर रही थी वही कोरोना पॉजिटिव नर्स के द्वारा प्रसूताओं की डिलेवरी भी करवाई गई है वही सूत्रों की माने तो आज जिस प्रसूता की डिलेवरी करवाई गई है उसका टीकाकरण भी प्रसूता के द्वारा टीकाकरण रूम में ले जाकर करवाया गया है यैसे में टीकाकरण रूम भी कोरोना के संपर्क में आ गया वही कोरोना पॉजिटिव नर्स के साथ कई स्टाफ नर्स और डॉक्टर तक संपर्क में आने से लोगो मे हड़कंप मच गया है यैसे में सवाल ये खड़ा होता है कि जब कोरोना पॉजिटिव नर्स का सैम्पल रीवा भेजा गया था तो उसे होम क्वारंटाइन क्यो नही कराया गया उससे लगातार ड्यूटी क्यो कराई जा रही थी

आखिर जिम्मेदार कौन
सवाल ये खड़ा होता है की जिस ट्रामा सेंटर के ये नर्स ड्यूटी कर रही थी और इसका सेम्पल टेस्ट के लिए क्यो भेजा गया अगर इनका कोई ट्रेबल हिस्ट्री है तो ये ड्यूटी किसके आदेशानुसार कर रही थी जिनके वजह से इतना बड़ी घटना हो गयी तो जिम्मेदार कौन।।