इंदौर, आकाश धौलपुरे। पूर्व लोकसभा स्पीकर और पद्मभूषण सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Womens Day)  के मौके पर सभी को शुभकामनाएं दी और इस मौके पर उन्होंने कहा कि स्त्री एक मनुष्य है और स्त्री समाज में विलीन है और हम मिलकर के एक समाज हैं। महिलाएं बहुत आगे जा रही हैं और सक्षम भी हैं। सबकी प्यारी ताई ने सबसे पहले कहा कि धीरे धीरे क्षेत्र बदल रहा है और हर क्षेत्र में महिला आगे आ रही हैं।

ये भी पढ़ें – महिला दिवस: इस ट्रेन की कमान संभाली महिलाओं ने, रेलवे स्टेशन भी महिलाओं के जिम्मे

वरिष्ठ भाजपा नेत्री सुमिता महाजन (Sumitra Mahajan)ने कहा कि महिला दिवस मनाने के मायने बदलना भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि स्त्री को अपने आप में आत्मविश्वास लाना चाहिए और स्त्री को कोई दूसरा कहे उसके बजाय वो स्वयं कहे कि हां मैं ये कर सकती हूँ । स्त्री को अपने गुणों को पहचान कर आगे बढ़ना चाहिए।  उन्होंने कहा कि  सबसे बड़ी बात ये है कि स्त्री यानि कोई एक शरीर ये दृष्टिकोण बदलना जरुरी है।  स्त्री भी मनुष्य है यही दृष्टिकोण बनाना है।  उन्होंने कहा कि जहां नारी की पूजा होती है वहां हर काम तो सफल होता है लेकिन आगे ये भी कहा गया है कि जहां नारी की पूजा और सम्मान नहीं होता है वहां कोई भी काम सफल नहीं होता है।

उन्होंने अपने विचार व्यक्त करते हुए अंतराष्ट्रीय महिला दिवस पर कहा कि स्त्री और पुरुष सम्पूर्ण समाज के दो हिस्से हैं और दोनों मिलकर समाज को आगे ले जाएं । वही उन्होंने महिलाओं से अपील की है कि वो अपनी शक्ति को पहचाने और आत्मविश्वास कैसे प्राप्त हो ये बात सोचें।