इंजीनियर के पॉजिटीव आने के बाद मचा हड़कंप, कर्मचारियों में दहशत

जबलपुर।संदीप कुमार

जबलपुर(jabalpur) नगर निगम(municipal corporation) में पदस्थ इंजीनियर(engineer) के कोरोना वायरस पॉजिटीव(corona positive) आने के बाद अब उनके सहकर्मियों में दहशत का माहौल है। लिहाजा इंजीनियर कृष्णा रावत साथ मे काम कर कर्मचारियों ने मांग की है कि हमारे भी सेम्पल(sample) लेकर टेस्ट(test) लिए जाए।दरअसल निगम में पदस्थ इंजीनियर कृष्णा रावत जॉन क्रमांक 1 के किचन प्रभारी थे और उनकी ही देख रेख में खाना बना करता था।

इंजीनयर के साथ अन्य साथियो के भी लिए गए थे सेम्पल-बाकी की रिपोर्ट आई निगेटिव

बताया जा रहा है कि जॉन क्रमांक एक मे पदस्थ निगम इंजीनियर की देखरेख में खाना बनकर बाटा जाता था। इस बीच कोरोना वायरस के लक्षण देखते हुए इंजीनियर और उनके साथ संभागीय अधिकारी,उपयंत्री,राजश्व निरीक्षक की जांच की गई और ये निर्देश दिए कि आप लोग घरों पर ही रहे लिहाजा सभी निगम अधिकारी घर पर ही आइसोलेट(isolate) हो गए।पर आज निगम ने चारो निगेटिव रिपोर्ट(negative report) आए अधिकारियों का वापस बुलाकर खाना बनाने की ड्यूटी में लगा दिया।जिसके बाद से अब अन्य साथी कर्मचारि इनके आने से दहशत में है।

बाकी के कर्मचारियों ने होम क्वारेटाइन से वापस आए अधिकारियों से बनाई दूरी

इंजीनियर कृष्णा रावत सहित संभागीय अधिकारी, राजस्व निरीक्षक और उपयंत्री को भी होम क्वारेटाइन किया गया था पर कृष्णा रावत को छोड़कर बाकी सभी अधिकारियों की रिपोर्ट नेगेटिव आने के चलते आज से उन्हें वापस काम पर बुला लिया गया। निगम कमिश्नर के निर्देश पर आज से यह सभी अधिकारी जॉन क्रमांक एक पर पहुंचकर खाना बनवाने के काम में जुट गए।अब आलम ये है कि बाकी के अन्य कर्मचारियों ने इन अधिकारियों से दूरी बनाना शुरू कर दी है जिसके चलते खाना बांटने का काम भी प्रभावित हो रहा है।आज भी गढ़ा जॉन में बना हुआ खाना लोगों को बांटा गया है। करीब 4 दिन के बाद होम आइसोलेट से वापस आए अधिकारियों ने कर्मचारियों के साथ मिलकर खाना बनवाया और बाद में यही खाना करीब तीन से चार वार्डों में बांटा भी गया है।इंजीनियर कृष्णा रावत के साथ काम कर रहे अन्य कर्मचारियों ने नगर निगम से मांग की है कि उनके भी सैंपल लेकर परीक्षण करवाया जाए क्योंकि हो सकता है कि कृष्णा रावत के साथ काम करने के चलते उनके बीच से ही कोई कोरोना वायरस पॉजिटिव निकल आए।