श्योपुर, रियाज अली

अगस्त(August) महीने के शुरुआत से ही मध्यप्रदेश(Madhyapradesh) में हो रही लगातार बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। प्रदेश में भारी बारिश का कहर जारी है। जिससे कई डैम(Dam) के गेट(Gate) खोले जा चुके हैं। इसी बीच मालवा अंचल(Malwa Zone) में हो रही लगातार बारिश की वजह से पार्वती नदी(Parvati River) उफान पर है। पार्वती नदी के जलस्तर बढ़ने के कारण एक बार फिर कोटा(Kota) के लिए रास्ता बंद हो गया है और लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

दरअसल मालवा अंचल में लगातार हो रही बारिश से पार्वती नदी में उफान से खतौली पुल डूब गया है। जिससे श्योपुर(Sheopur) से कोटा जाने के रास्ते बंद कर दिए गए हैं। भारी बारिश के चलते की पार्वती नदी का जलस्तर बढ़ने से पुल पर 5 फिट पानी आ गया है। बता दे कि श्योपुर से 60 किलोमीटर दूर राजस्थान(Rajasthan) के सवाई पहुंचने के बाद लोगों को कोटा के लिए 124 किलोमीटर लंबा सफर तय करना पड़ता था। जबकि श्योपुर से खातोली होते हुए कोटा की दूरी महज 120 किलोमीटर है।

अब ऐसे में पार्वती नदी का जलस्तर बढ़ने से खातोली पुल डूब गया है। जिसे एक बार फिर कोटा के लिए रास्ता बंद हो गया और लोगों का संपर्क इन स्थानों से टूट गया है। इस साल की बारिश में पहली बार ये मार्ग बन्द हुआ है। इधर अगर बारिश का कहर नहीं थमता है और पार्वती नदी का जलस्तर बढ़ता रहा तो जलालपुरा झोपड़ी, बड़ोदिया बिंदी, मंडी टपरा, पटपड़ा, सुंडी जैसे कई गांव पर खतरा बढ़ जाएगा। हालांकि पार्वती नदी का जलस्तर अभी खतरे के निशान से काफी नीचे है।