पार्वती नदी का जलस्तर बढ़ा, पुजारी सहित एक व्यक्ति मंदिर में फंसे, NDRF की टीम मौके पर मौजूद

गुना, विजय कुमार जोगी

मक्सूदनगढ़ के पास पार्वती नदी में अचानक जलस्तर बढ़ जाने के कारण गोगरा घाट मंदिर डूब में आ गया। सुबह की ताजा तस्वीरें आपको बताते हैं। जहां पार्वती नदी में पानी का तेज बहाव होने के कारण लगातार 18 घंटे बीत जाने के बाद भी अभी मंदिर में फंसे दो लोगों को रेस्क्यू नहीं किया जा सका है। मंदिर के पुजारी सहित एक अन्य व्यक्ति अभी भी मंदिर पर फंसे हुए हैं। एनडीआरएफ की टीम और मक्सूदनगढ़ पुलिस मौके पर मौजूद है। और दोनों को निकालने का प्रयास किया जा रहा है। पार्वती नदी का यह गोगरा घाट टापू नुमा स्थान है।

जहां एक मंदिर बना हुआ है। लगातार हो रही बारिश के बाद नदी में अचानक तेज बहाव आ गया। चारों तरफ से नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण मंदिर चारों तरफ डूब में आ गया। लेकिन राहत की बात यह है कि मंदिर का एक मंजिल ऊपर वाले हिस्से तक पानी नहीं पहुंचा है और दोनों इसी स्थान पर बैठे हुए हैं। प्रशासन के आला अधिकारी फोन पर दोनों से संपर्क बनाए हुए हैं। दोनों फिलहाल सुरक्षित हैं ऐसा बताया जा रहा है। लेकिन नदी का तेज बहाव होने के कारण रेस्क्यू चलाने में दिक्कत आ रही है। गोताखोर पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। लेकिन अभी तक दोनों को रेस्क्यू नहीं किया जा सका है। 18 घंटे बीत चुके हैं प्रशासन का दावा है कि मंदिर होने के कारण खाने पीने की चीजें भी वहां मौजूद हैं। और अब जैसे ही जलस्तर कम होगा दोनों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया जाएगा।

बड़ी बात यह है कि इस नदी में तेज पानी का बहाव स्थानीय बारिश की जगह पिछले हिस्से में बारिश अधिक होने के कारण बढ़ जाता है इसलिए आकलन लगाया जा रहा है जब तक बारिश कम नहीं होगी तब तक नदी का जल स्तर कम नहीं होगा और रेस्क्यू करने में दिक्कत आएगी साफ तौर पर कहा जाए तो जब तक जलस्तर कम नहीं होगा यह दोनों जहां हैं वहीं फंसे रहेंगे। 18 घंटे बीत चुके हैं पार्वती नदी के पानी का तेज बहाव अभी भी जारी है। और दो जिंदगी इस टापूनुमा गोगरा घाट के मंदिर पर फंसी हुई हैं इन्हें निकालने का प्रयास जारी है। लेकिन अभी तक दोनों को बाहर निकलने में सफलता नहीं मिल सकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here