बिजली के बढ़े दामों पर बोले PC- BJP ने किया सबका सत्यानाश, सारंग का पलटवार- कांग्रेस की चप्पू, पप्पू के हाथ

भोपाल।

मध्यप्रदेश में एक तरफ जहां प्रदेश की जनता बिजली के बढ़े हुए दामों से त्रस्त है। वहीं बिजली के बढ़े दामों पर अब सियासी एजेंडे भी तैयार किए जा रहे हैं। एक तरफ जहां प्रदेश में शिवराज सरकार(Shivraj government) के बिजली के बढ़ते दामों को लेकर बड़े-बड़े दावे हैं। वहीं दूसरी तरफ विपक्ष(opposition) लगातार इस मुद्दे पर शिवराज सरकार को घेरते आ रही है। इसी बीच बढ़े हुए बिजली के दामों को लेकर पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता पीसी शर्मा(Former Minister and Congress leader PC Sharma) ने पत्रकार वार्ता(Press Conference) की। जहां उन्होंने कहा कि बीजेपी(BJP) सबका साथ सबका विकास की बात तो करती है लेकिन बीजेपी ने सब का सत्यानाश कर दिया है।

शुक्रवार को पत्रकार वार्ता में बोलते हुए पूर्व मंत्री ने शिवराज सरकार पर आरोप लगाया है। कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने कहा कि सरकार ने घोषणा तो कर दी। लेकिन उनके पास अभी भी इस योजना को संचालित करने की अभी तक कोई व्यवस्था नहीं है। शिवराज सरकार ने बिजली बिल के आधे किए जाने की घोषणा की थी लेकिन अब तक प्रदेश में ऐसा कुछ संभव नहीं हो पाया है। कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने कहा कि गरीबों के बिजली बिल लाखो- हजारों रुपए में अा रहे हैं। लेकिन ना इस तरफ सरकार का ध्यान है और ना ही बिजली विभाग इस पर कोई प्रतिक्रिया दे रहा है। पीसी शर्मा ने यह भी कहा कि स्लम एरिया में रहने वाले लोगों के बिल 1 लाख 75 हजार आ रहे हैं जबकि वहां के निवासी इतने बिजली का उपयोग कभी नहीं कर सकते। इसी के साथ पूर्व मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया पर निशाना बोलते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि जो मंत्री कल तक संबल योजना का विरोध कर रहे थे। आज उन्हें संबल योजना अच्छी लग रही है।

इधर पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने शिवराज सरकार से मांग की है कि कोरोना काल में छोटे उद्योग बंद हो रहे हैं।लेकिन व्यापारियों से लाखों रुपए के बिजली बिल वसूले जा रहे हैं। जिस पर प्रदेश में लगाम लगनी चाहिए। सभी के बिजली का बिल 200 रूपए लिया जाए। गरीबों के लाखों हजारों रूपए के बिल माफ हो।

हालांकि पूर्व मंत्री पीसी शर्मा द्वारा बढ़े हुए बिजली बिलों को लेकर प्रदेश सरकार पर निशाना साधने के बाद अब बीजेपी मंत्री विश्वास सारंग ने उन्हें और कांग्रेस को आड़े हाथ लिया है। मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए सारंग ने विभन्न मुद्दों पर कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है।

बढे हुए बिजली बिल कांग्रेस का पाप

यह कांग्रेस की सरकार का पाप है संबल योजना बंद कर दी थी और उसी कारण आज तक यह बढ़े हुए बिजली बिल आ रहे हैं। सारंग ने कहा कि हमने फिर से संबल योजना चालू कर दी और अब लोगों को राहत है। वहीँ उन्होंने आरोप लगाया है कि कांग्रेस के शासन में बिल आते थे, बिजली नहीं लेकिन बीजेपी सरकार ने बिजली आएगी बिल नहीं।

विकास की जगह IIFA की थी तैयारी

कमलनाथ के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखने के सवाल पर बोलते हुए विश्वास सारंग ने कहा कि 15 महीने तक कांग्रेस की सरकार ने जमकर भ्रष्टाचार किया। प्रदेश की विकास की बात नहीं की। कोरोना जैसी महामारी में आईफा अवार्ड की तैयारी में व्यस्त रहे और हीरोइनों से ग्लबैया करते रहे। और अब यह पत्र लिखकर यही साबित हो रहा है कि वह फस्टेशन में है।

कांग्रेस की नाव का चप्पू पप्पू के हाथ

कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह के द्वारा विधायक नारायण पटेल को कांग्रेस छोड़ने की ट्वीट पर बोलते हुए विश्वास सारंग ने कहा कि निश्चित तौर पर 15 महीने की कांग्रेस की सरकार ने कोई काम किया नहीं है। कांग्रेस की नाव का चप्पू पप्पू के हाथ में है। इसी कारण लगातार कांग्रेस टूट रही है नीति और सिद्धांतों वाले लोग कांग्रेस के साथ छोड़ रहे हैं।

दिग्विजय हमेशा करते विघटन की बात

दिग्विजय सिंह के द्वारा त्यौहार पर लॉकडाउन लगाए जाने के सरकार के निर्णय को गलत बताने पर विश्वास सारंग ने कहा कि दिग्विजय हमेशा विघटन की बात करते हैं। लोगों को जाति और संप्रदाय के हिसाब से हर समय देखना ठीक नहीं है लेकिन भोपाल की जनता भी जागरूक है। और लॉकडाउन में सरकार का साथ देगी। वहीँ सारंग ने पत्रकार के एक सवाल पर कहा है कि कांग्रेस के नेता बड़ी-बड़ी बातें करते हैं और इस तरह से कांग्रेस नेता के यहां शराब की पार्टी चलना निश्चित ही शर्मनाक है। और यह लोग समाज को विघटित करने का काम कर रहे हैं।