पीसी शर्मा का आरोप- बाढ़ से हुए मौत के आंकड़े छिपा रही शिवराज सरकार

minister-pc-sharma-allegation-on-bjp-behind-rape-case

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश(Madhyapradesh) में भारी बारिश(Rain) का कहर जारी है। जिससे प्रदेश के कई हिस्सों में बाढ़(Flood) के हालात बन गए हैं। एक तरफ जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के निर्देश एनडीआरफ(NDRF) को दे चुके हैं। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस(Congress) ने इंतजाम में कमी को कारण बताते हुए शिवराज सरकार पर निशाना साधा है। पूर्व मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता पीसी शर्मा(P.C. Sharma) ने कहा है की प्राकृतिक आपदा से भोपाल में लोगों की जानें गई है। अगर व्यवस्था सुदृढ़ होती तो लोगों की जान बचाई जा सकती थी।

दरअसल सोमवार को बोलते हुए पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि बारिश के कहर और बाढ़ की आशंका के बावजूद आपदा प्रबंधन नहीं हो पाई है। जिसकी वजह से प्राकृतिक आपदा के कारण भोपाल(Bhopal) में कई जानें गई है। उन्होंने कहा कि वह खुद भी निरीक्षण करने गए थे इसके साथ ही पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने शिवराज सरकार(Shivraj government) पर आरोप लगाते हुए कहा है कि बाढ़ से हुए मृत्यु के आंकड़े बीजेपी सरकार(BJP government) छिपा रही है।

मुफ्त में हो कोरोना जाँच

इधर देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले पर बोलते हुए पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने केंद्र सरकार पर बड़ा हमला किया है। शर्मा ने कहा कि सरकार कंट्रोल करने में नाकामयाब रही है। सरकार को संक्रमण की चेन को फैलने से रोकने के लिए कुछ और सख्त कदम उठाने चाहिए। वहीं उन्होंने सरकार को सुझाव देते हुए कहा है कि सरकार टेस्ट के लिए पैसे लेने जा रही है। जिससे लोग पैसों की वजह से टेस्ट नहीं करवा पाएंगे। इसलिए सरकार को कोरोना की जांच मुफ्त में करवानी चाहिए। बता दे कि देश में लगातार 72,000 से 75,000 नए मामले सामने आ रहे हैं। जिसमें कल देश में सर्वाधिक 80,000 मामले सामने आए हैं।

कहां से मिलेगा रोजगार

केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि केंद्र एवं प्रदेश सरकार लगातार काम कर रहे कर्मचारियों के पीछे पड़ी हुई है। आपदा काल में उनको परेशान किया जा रहा है। उनको हटाने की कोशिश की जा रही है। ऐसी स्थिति में हम रोजगार की बात कैसे कर सकते हैं। आखिर ऐसी परिस्थिति में रोजगार कहां से मिल सकता है।

खिलौने बनाने की बात कर रहे PM नरेंद्र मोदी

दूसरी तरफ कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात खासी चर्चा में रही। प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात पर युवाओं और छात्रों का गुस्सा फूट पड़ा। यूट्यूब पर उस वीडियो को हजारों लोगों ने डिसलाइक किया। जिसके ऊपर बोलते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खिलौने बनाने की बात कर रहे हैं। जबकि आज के हालात में इंसान खुद खिलौना बना हुआ है। एक तरफ प्रधानमंत्री जनता के मन की बात को अस्वीकार कर रहे हैं, जो चाहते हैं कि उन्हें रोजगार मिले। वहीं दूसरी तरफ जनता की मांगों से अंजान बने हुए हैं।

गणेश विसर्जन पर शिवराज सरकार को घेरा

इसके साथ ही पीसी शर्मा ने गणेश विसर्जन पर शिवराज सरकार को घेरा है। बता दे कि शिवराज सरकार ने निर्देश जारी करते हुए कहा था की गणेश मूर्ति को अपने आसपास के इलाके के घर में ही विसर्जित किया जाना चाहिए। प्रदेश में कोरोना के फैलते संक्रमण के बीच अगर लोग घर से बाहर आएंगे तो संक्रमण बढ़ने की संभावना अधिक बढ़ जाएगी। जिस पर अब पीसी शर्मा ने उनपर निशाना बनाया है। वहीं कांग्रेस नेता और बीडीए के पूर्व उपाध्यक्ष अब्दुल सलीम की मौत पर शोक जताते हुए कांग्रेस नेता ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

बीजेपी का पलटवार

प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना महामारी को लेकर नगरीय प्रशासन मंत्री ने कहा कि कांग्रेस को हर विषय पर राजनीति नही करना चाहिये कोरोना महामारी सभी जगह बढ़ रही है। सरकार द्वारा उसकी रोकथाम के उपाय भी किए जा रहे हैं। भोपाल सहित ही प्रदेश में अन्य जगहों पर जर्जर हो चुके शासकीय भवन व मकान को लेकर उन्होंने कहा कि नगर निगम को जांच के आदेश दिए गए है जो भी जर्जर मकान है उनकी जांच की जा रही हैं। सिवनी में शिलान्यास से पहले ही ध्वस्त हुए पुल पर कहा की मध्यप्रदेश में अति वर्षा हुई है जिसके कारण पुल ढह गया है लेकिन उसकी हम जांच करवाएंगे और यदि कोई भी दोषी साबित होता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।