ज्यादा मुनाफे के लिए बनाते थे थिनर से जहरीली शराब, 15 आरोपी जेल की सलाखों के पीछे 

मुरैना, संजय दीक्षित। पूरे प्रदेश को हिला कर रख देने वाले मुरैना (Morena) जिले के छैरा जहरीली शराब (Poisonous Liquor) कांड के सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पांडे, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ हंसराज सिंह एवं सीएसपी प्रियंका मिश्रा के नेतृत्व में उनकी टीम ने इस नेटवर्क का पर्दाफाश किया है। छैरा शराब कांड में जहरीली शराब (Poisonous Liquor) पीने से  27 लोगों की मौत हो गई थी।घटना के बाद एक्शन में  आई पुलिस ने अब तक सभी 15 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि अधिक मुनाफे के चक्कर में वे जहरीली शराब (Poisonous Liquor)  बनाकर बेचते थे।  उन्होंने बताया कि ओपी का एक ड्रम 25  हजार से  तीस हजार रुपये का आता था जब कि थिनर के 5 ड्रम 30 हजार रुपए के आते हैं। इसलिए अपना धंधा चालू करने के लिए साथियों के साथ मिलकर आगरा से केमिकल की रजिस्टर्ड दुकान से 5 ड्रम थिनर के खरीदें। उक्त केमिकल खरीदते समय आरोपीगण  द्वारा पहचान के रूप में पहला अपना आधार कार्ड दिया किंतु बाद में पहचान छुपाने के उद्देश्य अपने मित्र का आधार कार्ड केमिकल दुकानदार को दे दिया।

पुलिस ने बताया कि केमिकल से अवैध शराब बनाने के लिए एक ड्रम थिनर केमिकल का छैरा ,01 ड्रम ग्राम कासपुरा एवं 3 ड्रम ग्राम दोनारी में साथियों द्वारा बोलेरो एवं लोडिंग वाहन से भेजे गए थे। अवैध शराब के निर्माण में उक्त बारदाना आरोपियों के द्वारा साथियों के साथ ग्वालियर के पवुआ के माता के मंदिर से पैकिंग का सामान तथा लेवलिंग का सामान शिवहरे प्रिंटिंग प्रेस से खरीदा गया था। इसके बाद आरोपीगणों के ग्राम छैरा में मुख्य आरोपी के घर पर एक ड्रम थिनर केमिकल से अवैध शराब जहरीली का निर्माण कर ग्राम छैरा ,मानपुर ,आस पास के गांव में जहरीली शराब सप्लाई की गई।

उक्त केमिकल थिनर से निर्मित शराब का सेवन स्वयं के द्वारा नहीं किया गया। जो कि आरोपीगण  के केमिकल से बनी शराब के दुष्प्रभाव को दर्शाता है। उक्त घटना पर से पुलिस प्रशासन एवं आबकारी विभाग द्वारा ग्राम मानपुर ,छैरा एवं आसपास के गांव गांव में जाकर जनसंपर्क कर लोगों से उनके घर में जो भी अवैध शराब रखी होने एवं सेवन न करने और अवैध शराब होने पर उसे नष्ट करने की राय दी गई। पुलिस प्रशासन एवं आबकारी विभाग द्वारा कॉम्बिंग ऑपरेशन चलाया गया और रेड की कार्रवाई के दौरान आरोपियों द्वारा छुपाई गई अवैध शराब की जब्ती की गई। इस प्रकरण में गिरफ्तार आरोपी घर पुलिस प्रशासन के द्वारा जमींदोज किए गए थे। इस प्रकरण में 06 आरोपियों के खिलाफ  एनएसए की कार्रवाई भी की गई है एवं अन्य शराब माफियाओं के खिलाफ जिला बदर की कार्रवाई की जा रही है। पुलिस ने छैरा, मानपुर, बिसंगपुर, दोनारी के आसपास के गांव में पुलिस ने सर्चिंग के दौरान भारी मात्रा में अवैध शराब जप्त की है।

MP Breaking News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here