तनिष्क के विज्ञापन पर फिर गर्माई राजनीति, रामेश्वर शर्मा ने कांग्रेस को दिया चैलेंज

रामेश्वर शर्मा ने कहा कि अगर दिग्विजय सिंह और कांग्रेस(congress) को तनिष्क का विज्ञापन इतना ही अच्छा लग रहा है तो वह इसे अपना अधिकारिक विज्ञापन बनाकर क्यों नहीं जारी करा लेते?

तनिष्क

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। तनिष्क(tanishq) के दो धर्मों को लेकर बनाए हुए विज्ञापन पर अब राजनीति शुरू हो गई है। इस विज्ञापन के भारी तौर पर विरोध देखने के बाद कंपनी ने यह विज्ञापन तो हटा लिया लेकिन इस पर विवाद अब भी जारी है। अब इस मामले में प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा(rameshwar sharma) ने दिग्विजय सिंह(digvijay singh) पर निशाना साधा है। रामेश्वर शर्मा ने कहा कि हम किसी धर्म का अपमान नहीं करते लेकिन अगर कोई हमारे धर्म के साथ छेड़छाड़ करेगा तो क्या हम इसे देखते रहेंगे।रामेश्वर शर्मा ने कहा कि लव जिहाद को बढ़ावा देने वाले किसी भी व्यक्ति यह संस्थान को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

मीडिया से बात करते हुए प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कहा कि अगर दिग्विजय सिंह और कांग्रेस(congress) को तनिष्क का विज्ञापन इतना ही अच्छा लग रहा है तो वह इसे अपना अधिकारिक विज्ञापन बनाकर क्यों नहीं जारी करा लेते? कांग्रेस को यह विज्ञापन आधिकारिक कराना चाहिए उसके बाद उन्हें पता चलेगा कि किस तरह का जन जागरण देश में हुआ है।

ये भी पढ़े:  तनिष्क का विज्ञापन वापिस लेने पर दिग्विजय सिंह ने रतन टाटा को दी ये सलाह

वही प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कहा कि विज्ञापन विज्ञापन(Advertisement) की तरह बनने चाहिए। आप उसमें भावना दिखाइए लेकिन किसी धर्म को मिलाकर इस तरह की सद्भावना से मजाक करना यह कतई सही नहीं है। रामेश्वर शर्मा ने कहा कि यदि इस तरह के विज्ञापन आप बना रहे हैं तो इसका साफ मतलब है कि आप कहीं ना कहीं लव जिहाद जैसे चीजों को बढ़ावा दे रहे हैं। अपनी बात कहते हुए रामेश्वर शर्मा ने कहा कि लव जिहाद को बढ़ावा देने वाले किसी भी व्यक्ति यह संस्थान को स्वीकार नहीं किया जाएगा।  वहीं उन्होंने टाटा ग्रुप(Tata group) को धन्यवाद देते हुए कहा कि मैं उनको बधाई देता हूं कि उन्होंने अपनी गलती मान कर इस विज्ञापन को हटाया देश के प्रति रतन टाटा का समर्पण और बलिदान ऐतिहासिक है।

बता दें कि पिछले दिनों सोशल मीडिया पर तनिष्क का एक विज्ञापन तेजी से वायरल(viral) हो रहा था। जिसका बड़े पैमाने पर विरोध देखने को मिला। विरोध इतना गहरा था कि टाटा ग्रुप को वह विज्ञापन हटा कर एक माफीनामा तक जारी करना पड़ा था। वहीं लोगों का कहना था कि इस विज्ञापन से उनकी धार्मिक भावना को ठेस पहुंची और लव जेहाद जैसी चीजों को बढ़ावा मिल रहा है।

ये भी पढ़े: #BoycottTanishq – आखिर क्यों तनिष्क को वापस लेना पड़ा अपना विज्ञापन, जानिए पूरी वजह

जिसके बाद दिग्विजय सिंह ने इस विज्ञापन का समर्थन करते हुए रतन टाटा(Ratan Tata) को जर्मन कवि मार्टिन निमोलर की प्रसिद्ध कविता का अंश शेयर करते हुए विज्ञापन को हटाए जाने पर सवाल पूछा था और साथ ही साथ उन्होंने रतन टाटा को कविता के संदेश को गंभीरता से लेने की सलाह भी दे दी थी।

गौरतलब हो कि तनिष्क ( tanishq) के नए विज्ञापन में एक हिंदू युवती को दिखाया गया था, जिसकी मुस्लिम परिवार में शादी हुई है। इसमें महिला की गोदभराई के दौरान दिखाया है कि मुस्लिम परिवार हिंदू रीति रिवाजों से रस्में अदा करता है। एड के आखिर में एक गर्भवती महिला अपनी सास से पूछती है कि ‘मां ये रस्म तो अपने घर में होती ही नहीं है न?’ जिसपर उसकी सास ने जवाब दिया कि ‘पर बिटिया को खुश रखने की रस्म तो हर घर में होती है न?’ एड फिल्म में हिंदू-मुस्लिम परिवार की एकता को दिखाया गया है। कौमी एकता वाले विज्ञापन को लेकर कई लोगों ने इसे लव जिहाद से जोड़ दिया और ट्वीटर पर #BoycottTanishq  ट्रेंड करने लगा। इसी के तनिष्क (tanishq) ने अपना एड वापस लेना पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here