MP के 1.75 लाख लोगों का ‘ऑनलाइन गृह प्रवेश’, PM मोदी बोले- इस बार की दीवाली होगी कुछ और

पीएम मोदी ने कहा पहले गरीब सरकार के पीछे दौड़ता था, अब सरकार लोगों के पास जा रही है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश में आज करीबन 2 लाख गरीबों के घर का सपना साकार हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) ने आज शनिवार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग(video conferencing) के जरिए मध्य प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण के तहत बने 1.75 लाख घरों का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री मोदी के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) भी ऑनलाइन कार्यक्रम(Online program) से जुड़े। मोदी ने प्रधानमंत्री मोदी ने धार जिले के सरदारपुर गांव के हितग्राही गुलाब सिंह, सिंगरौली जिले के हितग्राही प्यारेलाल यादव, ग्वालियर जिले के हितग्राही नरेंद्र नामदेव से चर्चा की।

दरअसल आज होने वाली गृह प्रवेश कार्यक्रम इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि सामान्य तौर पर प्रधानमंत्री आवास योजना(Pradhanmantri Aawas yojna) के तहत एक घर बनाने में औसतन 125 दिन का समय लगता है।कोरोना काल में पीएम आवास योजना के तहत घरों को सिर्फ 45 से 60 दिन में ही बनाकर तैयार कर दिया गया है।आपदा को अवसर में बदलने का ये उत्तम उदाहरण है प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीब को सिर्फ घर ही नहीं, बल्कि उज्ज्वला योजना, उजाला योजना, शौचालय, आयुष्मान भारत योजना का लाभ भी मिल रहा है। जैसे इंद्रधनुष में अलग-अलग रंग होते हैं वैसे ही पीएम आवास योजना के अंतर्गत बनने वाले घरों में भी अपने ही रंग हैं। अब गरीब को सिर्फ घर ही नहीं मिल रहा है बल्कि घर के साथ शौचालय, गैस कनेक्शन, बिजली कनेक्शन, LED बल्ब, पानी कनेक्शन सब कुछ मिल रहा है।

पहले गरीब सरकार के पीछे दौड़ता था, अब सरकार लोगों के पास जा रही

मोदी ने कहा कि पहले जो घर बनते थे। उनमें पारदर्शिता की भी कमी थीं। कई गड़बड़ियां भी होती थीं। इसलिए उन घरों की क्वालिटी भी बहुत बेकार होती थी। लाभार्थियों को सरकारी दफ्तरों के चक्कर भी लगाने होते थे। पहले जो घर बनते उनमें गृह प्रवेश ही नहीं हो पाता था। पहले गरीब सरकार के पीछे दौड़ता था, अब सरकार लोगों के पास जा रही है।अब किसी की इच्छा के अनुसार लिस्ट में नाम जोड़ा या घटाया नहीं जा सकता। चयन से लेकर निर्माण तक वैज्ञानिक और पारदर्शी तरीका अपनाया जा रहा है।मुझे कई बार लोग पूछते हैं कि घर तो पहले भी गरीबों के लिए बनते थे। वैसे दशकों से गरीबों के लिए घर बनाने की योजनाएं चल रही हैं। लेकिन करोड़ों गरीबों को घर देने का लक्ष्य था, वो कभी पूरा नहीं हो पाया।

श्रमिक साथियों का बहुत बड़ा योगदान

मोदी ने कहा कि पीएम गरीब कल्याण अभियान के तहत घर तो बन ही रहे हैं।हर घर जल पहुंचाने का काम हो।आंगनबाड़ी और पंचायत के भवनों का निर्माण हो। पशुओं के लिए शेड बनाना हो,तालाब और कुएं बनाना हो। गांव के विकास से जुड़े ऐसे अनेक काम तेजी से किए गए हैं। आवास निर्माण की तेज़ी में शहरों से लौटे हमारे श्रमिक साथियों का बहुत बड़ा योगदान रहा। हमारे इन साथियों ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोज़गार अभियान का पूरा लाभ उठाते हुए अपने परिवार को संभाला और अपने गरीब भाई-बहनों के लिए घर भी तैयार किए।

कार्यक्रम से शुरु होने से पहले बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष वी. डी. शर्मा(BJP state president V. D. Sharma) ने कहा कि प्रदेश में 15 माह की कांग्रेस सरकार ने गरीबों की योजनाएं बंद कर दी। उनके लिए स्वीकृत दो लाख 43 हजार पीएम आवास लौटाकर लाखों गरीबों के सिर की छत छीन ली थी। अब उन्हें पक्के घर का सुख मिलेगा। इधर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 18 सितंबर को प्रदेश के कुल 20 लाख किसानों के बैंक खाते में फसल बीमा के 46 हजार करोड़ रुपए भेजे जाएंगे।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री के जन्मदिवस 17 सितंबर को लेकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा सप्ताह की शुरुआत 14 से 20 सितंबर तक जनसेवा कार्यों का आयोजन किया जाएगा। जिसके तहत 70 दिव्यांगों को कृत्रिम अंग, उपकरण, 70 गरीबों को चश्मे का वितरण 70 युवा मोर्चा द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन, 70 पौधारोपण और 70 गांव में स्वच्छता अभियान सहित प्रधानमंत्री मोदी के व्यक्तित्व पर 70 वर्ष वर कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जाएगा। इसके साथ ही 70 कोरोना संक्रमित को प्लाज़्मा डोनेशन भी कराया जाएगा। बता दें कि 17 सितम्बर को पीएम मोदी 70 वर्ष के हो जायेंगे। जिसको देखते हुए प्रदेश सरकार ने जनकार्यों में 70 के अंकों का चुनाव किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here