प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना: अनिवार्यता होगी खत्म, किसानों को मिलेगी ये राहत

politics-on-farmers-in-madhya-pradesh-

भोपाल।

कोरोना संकटकाल(Corona crisis) के बीच किसानों को पड़ने वाली आर्थिक समस्या(Financial problem) को देखते हुए अब शासन की तरफ से किसानों को बड़ी राहत दी गई है। जिसके तहत अब किसान(farmer) फसल बीमा(Crop insurance) के लिए ना भी कर सकेंगे। ऐसे किसान जो अपनी फसल का बीमा नहीं करवाना चाहते। उन्हें फसल बीमा कराने की आखिरी तारीख से 7 दिन पहले इसके लिए आवेदन देना अनिवार्य होगा। जिसके बाद उनके बीमा की किस्त(Insurance premium) बैंक द्वारा नहीं काटी जाएगी।

दरअसल शासन द्वारा किसानों को बड़ी राहत दी गई है। जिसके मुताबिक अब तक जहां केसीसी धारक किसानों के लिए फसल बीमा अनिवार्य था। और किसानों को ना चाहते हुए भी बीमा कराना पड़ता था ऐसे किसानों के लिए शासन ने दरियादिली दिखाते हुए प्रधानमंत्री फसल बीमा के तहत अब उन्हें चुनाव का अवसर दिया है। जिसके तहत अगर किसान चाहे तो वह प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं। अब केसीसी धारक किसानों के लिए फसल बीमा योजना की अनिवार्यता को समाप्त किया जाना है। ऐसे में जो भी किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना(Pradhan Mantri Crop Insurance Scheme) में बीमा का लाभ नहीं लेना चाहते हैं वह इसके लिए 7 दिन पूर्व आवेदन दे सकते हैं। जा प्रधानमंत्री फसल योजना में बीमा कराने की आखिरी तारीख 31 जुलाई है। वही किसानों को इससे पहले बैंक के सोसाइटी (जहां भी उनका अकाउंट हो)में जाकर 24 जुलाई तक आवेदन देना होगा। जिसके बाद किसानों के बीमा की किस्त नहीं कटेगी।

बता दें कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों को ना चाहते हुए भी अपने फसल का बीमा कराना पड़ता था। हालांकि यह किसानों के दृष्टिकोण से काफी लाभदायक होते हैं किंतु कई बार नुकसान के बाद किसानों को बीमा का लाभ नहीं मिल पाता था। जिससे कि किसान नाराज है जो थे वही अल्पकालीन फसल लोन लेने वाले ऋणी भी फसल का बीमा नहीं करवाना चाहते थे। जिसको देखते हुए अब सरकार की तरफ से किसानों को बड़ी राहत दी गई है।