बीजेपी विधायक संजय पाठक के खिलाफ फिर बड़े एक्शन की तैयारी

जबलपुर | संदीप कुमार।
विजयराघवगढ़ विधानसभा से भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री संजय पाठक की मुश्किलें कम होने की वजह और बढ़ती जा रही है।सिहोरा के आगरिया-दुगरिया स्थित 130 एकड़ क्षेत्रफल में आयरन ओर की दो खदानें सील करने के बाद तीन अब जिला प्रशासन संजय पाठक की अन्य खदानों पर भी कार्यवाही करने का मन बना रहा है।कलेक्टर भरत यादव ने खनिज विभाग और एसडीएम को जाँच कर रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए है।

खदानों में अनियमितता की होगी जांच..
कलेक्टर भरत यादव ने निर्देश दिए है कि मौके पर जाकर जाँच करें कि कही इन खदानों में किसी प्रकार की अनियमितता तो नहीं हो रही है। इसी प्रकार से जिला प्रशासन ने 4 मार्च को संजय पाठक की खदानों पर कार्रवाई कर जाँच रिपोर्ट शासन को भेजी थी।

अबतक दो खदानें हो चुकी है सील
सिहोरा तहसील के अंतर्गत पांच आयरन ओर की खदानें संजय पाठक की संचालित हो रही है। इनमें दो मेसर्स निर्मला मिनरल्स नाम से अगरिया और दुबियारा में चल रही थी जिसे जिला प्रशासन ने हाल के दिनों में सील किया था।बताया जा रहा है कि वन विभाग ने खदान की जगह को वन भूमि बताकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। कोर्ट उसी आधार पर खनन पर रोक लगाई गई थी। इस बीच मेसर्स निर्मला मिनरल्स के अभ्यावेदन और महाधिवक्ता कार्यालय से अभिमत लेकर खनन की अनुमति दी गई थी।

आज सुबह रिसोर्ट और खेतों पर भी हुई कार्रवाई
वही आज शनिवार सुबह उमरिया जिला प्रशासन ने भाजपा विधायक संजय पाठक के बांधवगढ़ स्थित साइना रिसोर्ट पर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की और इसके बाद वहां लगी फसल पर जेसीबी चला दिया। जिला प्रशासन का कहना है कि इलाके में 11 रिसोर्ट की जांच के बाद 12 फरवरी को कार्रवई के निर्देश जारी किए गए थे। यहां प्रशासन द्वारा करीब 2 एकड़ क्षेत्र में अतिक्रमण होना बताया जा जरा है। इसके बाद मध्य प्रदेश सरकार पर बदले की कार्रवाई के आरोप लगने लगे हैं। विधायक संजय पाठक ने कहा कि कृषि भूमि पर खड़ी फसल पर प्रशासन ने जेसीबी कैसे चला दिया।