Punjab CM: चन्नी पर लग चुका है मी टू का आरोप, महिला IAS को भेजा था मैसेज

डेस्क रिपोर्ट। पंजाब के नए मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए चरणजीत सिंह चन्नी के लिए पंजाब की मुख्यमंत्री की कुर्सी कांटों का ताज साबित होने जा रही है। दरअसल उन पर एक आरोप मीटू को लेकर लग चुका है जिसे लेकर वह कह चुके हैं कि यह मुख्यमंत्री की शह किया गया था। मामला 2018 का है और चन्नी पर आरोप लगा था कि उन्होंने एक महिला आईएएस अधिकारी को 2018 में एक गलत मैसेज भेजा था। हालांकि उस महिला ने उस समय शिकायत दर्ज नहीं की थी और अमरिंदर सिंह ने भी कहा था कि मामला सुलझा लिया गया है। तब चन्नी ने कहा था कि मैसेज गलती से महिला अधिकारी को भेजा गया था। उन्होंने कहा था कि मैसेज अश्लील नहीं और रूटीन में ही उन्होंने कई लोगों को भेजा था, जिसमें महिला अधिकारी को भी यह मैसेज चला गया था। चन्नी ने कहा कि उन्होंने दूसरे ही दिन महिला अधिकारी से इस संबंध में गलती मान ली थी और मुख्यमंत्री की हाजिरी में यह मामला हल को गया था। लेकिन 18 मई 2021 को पंजाब महिला आयोग की चीफ मनीषा गुलाटी ने इस मामले को लेकर राज्य सरकार को नोटिस भेजा था।

पंजाब के नए मुख्यमंत्री होंगे चरणजीत सिंह चन्नी, हरीश रावत ने ट्वीट से किया ऐलान

महिला आयोग की चीफ मनीषा गुलाटी ने कहा था कि वे उस महिला आईएएस अधिकारी के लिए वह इंसाफ चाहती हैं जिनका हाल ही में पंजाब के बाद ट्रांसफर हो गया है और आईएएस अधिकारी इस मामले में कार्रवाई करने के लिए दबाव डाल रहे हैं इसलिए मैंने राज्य सरकार को नोटिस भेजा है। मनीषा गुलाटी ने यह भी कहा था कि जब स्टेट चीफ सेक्रेटरी महिला है नेशनल पार्टी प्रेसिडेंट महिला है तो महिला आईएएस अधिकारी को कैसे इन्साफ नहीं मिलेगा। सरकार इस मामले में जवाब नहीं देगी तो मैं धरने पर बैठूगी। तब चन्नी ने कहा था कि अमरिंदर सिंह उन्हें परेशान करने के लिए इस तरह की कार्रवाई करवा रहे हैं। अब जब चन्नी मुख्यमंत्री की शपथ लेने जा रहे हैं तो फिर इस बात की पूरी संभावना है कि मामला गर्म आएगा क्योंकि अकाली दल ने चन्नी का नाम सामने आते ही मीटू का मामला खड़ा कर दिया है।