क्वॉरेंटाइन हुए मरीजों को नहीं मिल रहा समय पर खाना, शिकायत पर भी कार्यवाही नहीं

सिंगरौली।राघवेन्द्र सिंह गहरवार।

दानवीरों द्वारा लाखो रुपये दान दिए जाने के बावजूद भी बाहर से लाकर सिंगरौली(singrauli) जिले के बलियरी में क्वॉरेंटाइन(quarantine) किये लोगो को इंडियन रेड क्रॉस सोसायटी(red cross society) सिंगरौली द्वारा अच्छा भोजन नही मिल पा रहा है। भोजन की क्वालिटी(quality) में लगातार गिरावट देखी जा रही है। लोगों का कहना है कि क्वॉरेंटाइन हुए लोगो से जब इस बारे में जाना गया तो उन्होंने बताया कि रेड क्रॉस सोसायटी द्वारा जो भोजन उन्हें खाने को दिया गया था।

उसमें पंक्षी का पंख मिला था वही उन्होंने बताया कि एक लड़के को रात में पेट दर्द और उल्टी की समस्या शुरू हो गई थी। जिसकी जानकारी उन्होंने अधिकारियों को दी थी। लेकिन उनकी जांच करने के लिए कोई भी डॉक्टर(doctors) या जिम्मेदार उनका हाल चाल देखने नही गया। ऐसे में सवाल ये खड़ा होता है की जिले में रेड क्रॉस सोसायटी द्वारा क्वॉरेंटाइन हुए लोगो के खाने व स्वास्थ्य(ealth) का उचित देखभाल नही किया जा रहा है। जब इसके बारे में और लोगो से जानने की कोसिश की गई तो पता चला की भोजन की जिम्मेदारी(responsibility) रेड क्रॉस सोसायटी के पास है और उसके जिम्मेदार भोजन की क्वालिटी की जगह सस्ते में भोजन पारोसने में ज्यादा ध्यान दे रहे है। क्योकी 25 रुपया में रोटी ,चावल,दाल,सब्जी,और 15 रुपये में खिचड़ी इस महंगाई में पैकेट कर के पार्सल कितना अच्छा मिलेगा आप खुद सोच सकते है। वही क्वॉरेंटाइन हुए लोगो ने बताया कि उन्हें समय से भोजन नही मिल पा रहा है दोपहर के 1 से 2 बजे तक उन लोगो को पेट की भूख मिटाने के लिए भोजन मिल पाता है।।

वही आगे उन्होंने बताया की कोरोना से ज्यादा खतरनाक यहाँ मच्छरों प्रकोप है रात भर मच्छर काटते है अगर यैसा ही रहा तो कुछ दिन में हम मलेरिया डेंगू के मरीज हो जायेंगे,उन्होंने कहा कि बहुत रिक्वेस्ट करने पर एक मच्छर क्वाइल दिया जाता है लेकिन वो मुश्किल से 10-15 मिनट ही जलता है उसके वाद फिर पूरा रात मच्छरों से कटवाने के अलावा कोई रास्ता नहीँ बचता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here