सांसद में राफेल को लेकर किए राहुल ने सवाल, मचा बवाल जाने पूरा मामला

Rahul Gandhi

 

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और रक्षा मामलों की संसदीय स्थायी समिति के बीच गुरुवार को हुई बैठक मे नोकजोक हो गई। पैनल के अध्यक्ष जुएल ओराम के साथ राहुल गांधी की चर्चा के वक्त कई बार बहस हो गई। बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने चीन के साथ हुए समझौते और राफेल विमान जैसे कई मुद्दों पर बात की। उन्होंने कहा कि सरकार ने जब पहले 126 राफेल विमानों के लिए समझौता किया था तो घटाकर 26 क्यो कर दिया गया। उन्होंने सरकार इसका कारण पूछा।

साथ ही कांग्रेस नेता ने पूछा कि सरकार इस नुकसान की ‘क्षतिपूर्ति’ कैसे करेगी। खासतौर से ऐसे समय पर जब भारत चीन और पाकिस्तान की तरफ से संयुक्त खतरे का सामना कर रहा है। सूत्रों ने बताया कि इन सब के बीच ओराम ने गांधी को एलएसी की स्थिति और राफेल विमान के बारे में लगातार सवाल पूछने से रोका और कहा कि ये ‘संदर्भ से बाहर’ हैं। इस पर राहुल ने जोर देकर कहा कि उनके सवाल रक्षा खरीद से जुड़े हैं।

इसके बाद में ओराम ने एलएसी की स्थिति और चीन पर अलग और अधिक विस्तृत चर्चा के  गांधी के अनुरोध पर सहमति व्यक्त की। उन्होंने कहा कि बजटीय आवंटन पर चर्चा पूरी होने के बाद इस मामले को लेकर एक अलग बैठक बुलाई जाएगी। इस बीच सत्तारूढ़ पार्टी के एक सांसद ने कहा कि गांधी के तर्क मान्य नही हैं क्योंकि भारत के पास पर्याप्त हथियार हैं और तीनों राष्ट्रों की परमाणु क्षमता के मद्देनजर विमानों की संख्यात्मक तुलना करना ‘अर्थहीन’ है।

भाजपा सांसद का कहना था कि , ‘हम टू फ्रंट युद्ध में खुद का बचाव करने में सक्षम हैं। लोगों को यह नहीं भूलना चाहिए कि हम रणनीतिक संपत्ति के साथ एक परमाणु सक्षम राष्ट्र भी हैं।’ बैठक के दौरान रक्षा मामलों की संसदीय समिति के सामने रक्षा सचिव और सैन्य अभियानों के महानिदेशक रक्षा क्षेत्र के बजटीय आवंटन और उससे जुड़े विभिन्न प्रावधानों को लेकर प्रजेंटेशन दे रहे थे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here