राहुल बोले- ज्योतिरादित्य के लिये हमेशा खुले थे घर के दरवाज़े

नई दिल्ली।

मध्य प्रदेश की राजनीतिक गलियारों में कमलनाथ(kamalnath) सरकार के लिए मुश्किल तब खड़ी हो गई। जब ज्योतिरादित्य सिंधिया आज बीजेपी(bjp) में शामिल हो गए। इससे पहले मंगलवार को दिल्ली में उन्होंने कांग्रेस(congress) अध्यक्षा के नाम पत्र के जरिए अपना इस्तीफा सौंपा था। बता दे कि मध्य प्रदेश से सिंधिया कांग्रेस के अत्यधिक लोकप्रिय नेता थे। साथ ही साथ राहुल गांधी के भी बहुत करीबी थे। मध्य प्रदेश कांग्रेसी नेताओं के तीखे वार के बाद अब राहुल गांधी(rahul gandhi) ने भी सिंधिया पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। सिंधिया पर बोलते हुए उन्होंने कहा है कि वह हमारे ऐसे मित्र हैं, जो कभी भी मेरे घर आ सकते हैं जैसे वह पहले मेरे घर आ सकते थे।

दरअसल सिंधिया के इस्तीफे के बाद मीडिया के सिंधिया और राहुल की मुलाकात ना होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि ज्योतिरादित्य और मैं एक साथ पढ़े हैं। हमारा पुराना नाता है। वह अकेले मेरे ऐसे मित्र हैं जो कभी भी हमारे घर आ सकते हैं। वहीं मध्य प्रदेश में सत्ता अस्थिर करने के लिए उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना भी साधा। जहां उन्होंने कहा यह सब करते वक्त क्या पीएम का ध्यान तेल की कीमतों में आई भारी गिरावट पर नहीं जा रहा।

बता दे कि सब को चौंकाते हुए सिंधिया ने मंगलवार को कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि इस्तीफा सोमवार की रात ही लिखा जा चुका था। जिसके बाद से मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के लिए मुश्किलें बढ़ गई है। हालाकि सिंधिया के इस्तीफे के तुरन्त बाद कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया था।