भाजपा में बगावती तेवर, दो मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति का विरोध, किया हंगामा

जो लोग पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री , जिला अध्यक्ष सहित अन्य वरिष्ठ नेतृत्व के लिए अमर्यादित भाषा का प्रयोग कर चुके हो और जिन्होंने पार्टी अनुशासन के विपरीत कार्य किया हो उनके साथ कैसे काम किया जा सकता है।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी (Bhagwandas  Sabnani)के सामने आज कार्यकर्ताओं ने हंगामा कर दिया। पार्टी कार्यालय में आयोजित बैठक में शामिल होने पहुंचे कार्यकर्ताओं ने दो मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति का विरोध किया और उन्हें हटाने की मांग की। नाराज कार्यकर्ता बैठक को बीच में ही छोड़कर चले गए। इससे पहले विरोध कर रहे कार्यकर्ता आज सुबह सांसद विवेक शेजवलकर (MP Vivek Shejwalkar) के सामने भी विरोध दर्ज करने पहुंचे थे।

आमतौर पर जो कांग्रेस (Congress)की बैठकों में देखने में आया करता है वो अब भाजपा (BJP)में दिखाई देने लगा है। भाजपा(BJP) में भी कार्यकर्ता अब बगावती तेवर दिखाने लगे हैं। जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी (Kamal Makhijani)की नियुक्ति को लेकर पिछले साल पार्टी के एक बड़े धड़े ने बगावती तेवर दिखाए, अब एक और धड़े ने दो मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति को लेकर विरोध शुरू किया है। पार्टी ने पिछले दिनों घोषित किये मंडल अध्यक्षों में ग्वालियर में रामकृष्ण मंडल (Ramkrushna Mandal) का अध्यक्ष उमेश भदौरिया को और शहीद भगत सिंह मंडल (Shaheed Bhagat Singh Mandal) का अध्यक्ष बनाया हरिओम झा को बनाया है। इनकी नियुक्ति के बाद से ही कार्यकर्ताओं का एक बड़ा समूह इनका विरोध कर रहा है। दोनों मंडलों के करीब 100 कार्यकर्ता दोनों मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति का विरोध कर रहे हैं।

दरअसल पार्टी के प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी (Bhagwandas Sabnani)आज एक कार्यक्रम में ग्वालियर आये थे। पार्टी कार्यालय मुखर्जी भवन पर कार्यकर्ताओं से मुलाकात के लिए बैठक का आयोजन किया गया। जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी (Kamal Makhijani)की सूचना पर कार्यकर्ता वहाँ पहुंचे। इसी बीच राम कृष्ण मंडल और भगत सिंह मंडल के कार्यकर्ताओं ने बैठक में हंगामा कर दिया। कार्यकर्ताओं ने विरोध दर्ज कराते हुए प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी (Bhagwandas Sabnani)को ज्ञापन दिया और कहा कि दोनो मंडल अध्यक्ष संगठन महामंत्री सहित अन्य नेतृत्व के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग कर चुके हैं, जिला अध्यक्ष के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी कर चुके हैं फिर भी पार्टी ने उमेश भदौरिया और हरिओम झा को ये महत्वपूर्ण दायित्व सौंपा है। ये बिलकुल उचित नहीं हैं इसपर पार्टी पुनर्विचार करे। खास बात ये रही कि अपनी बात कहकर ये कार्यकर्ता बैठक छोड़कर चले गए।

उधर मीडिया से बात करते हुए भाजपा प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी (Bhagwandas Sabnani) ने कहा कि हमारा परिवार बड़ा है कई निर्णय ऐसे होते हैं जो सबको पसंद नहीं आते,इसलिए वे परिवार के अंदर ही अपनी बात रखने आये थे और कोई भाव उनका नहीं था। मैं उनकी बात वरिष्ठ नेतृत्व तक पहुंचाऊंगा। रही बात बैठक के बहिष्कार की तो यहाँ स्थान कम है वे बाहर चले गए तो इसे बहिष्कार नहीं कहते। वैसे भी ये अनौपचारिक बैठक थी।

गौरतलब है कि दोनों मंडल के नाराज नाराज करीब 100 कार्यकर्ता आज सुबह सांसद विवेक शेजवलकर (MP Vivek Shejwalkar) के घर पर भी मुलाकात करने गए थे और उनसे शिकायत की थी जो लोग पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री , जिला अध्यक्ष सहित अन्य वरिष्ठ नेतृत्व के लिए अमर्यादित भाषा का प्रयोग कर चुके हो और जिन्होंने पार्टी अनुशासन के विपरीत कार्य किया हो उनके साथ कैसे काम किया जा सकता है।

भाजपा में बगावती तेवर, दो मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति का विरोध, किया हंगामा

भाजपा में बगावती तेवर, दो मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति का विरोध, किया हंगामा