तब्लीगी जमात के दसों लोगों की रिपोर्ट निगेटिव, आज से खाद-बीज की दुकानें भी खोल सकेंगे

रतलाम।सुशील खरे।

रतलाम लॉकडाउन के बीच अच्छी खबर सामने आयी है। रविवार को आई तब्लीगी जमात के सभी 10 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव निकली है। वहीं किसानों को राहत देते हुए कलेक्टर ने सोमवार से बीज, उर्वरक और कीटनाशक दवाइयों को बनाने और बेचने के साथ कृषि उपकरणों की मरम्मत के लिए गैरेज और सर्विस सेंटर खोलने की अनुमति दे दी। सुबह 7 से शाम 4 बजे के बीच अलग-अलग समय निर्धारित है। बाकी दुकानों के लिए छूट का समय सुबह 7 से 11 बजे रहेगा।

तब्लीगी जमात के लोगों की मेडिकल कॉलेज से छुट्‌टी

रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद मेडिकल कॉलेज में क्वारंटाइन किए गए तब्लीगी समाज के सभी दस लोगों की छुट्टी कर दी है। ये लोग राजस्थान और तेलंगाना से रतलाम आए थे। स्वास्थ्य विभाग ने सभी को 14 दिन तक होम आइसोलेशन में रहने की हिदायत दी है। दिल्ली मरकज में कोरोना संक्रमित मिलने के बाद पिछले मंगलवार को शहर में जमात से जुड़े 18 लोगों के होने की जानकारी प्रशासन को लगी थी। पहले तो शुरुआती जांच के बाद स्वास्थ्य विभाग ने इन्हें घरों में रहने का कहकर छोड़ दिया था। बाद मेडिकल कॉलेज में क्वारंटाइन कर ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजे थे। अब तक 32 लोगों की जांच हो चुकी है।

साइन ऑफ़-लेकिन इनका पालन करना पड़ेगा

उपकरण की मरम्मत के लिए दो से तीन मैकेनिक ही गैरेज, दुकान, सर्विस सेंटर में मौजूद रहेंगे।
फसल कटाई के लिए लगाए श्रमिकों को किसानों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए मास्क व अन्य जरूरी संस्थान उपलब्ध कराना होंगे।
छूट के निर्धारित समय में भी 2 से 5 व्यक्तियों के एक साथ खड़े रहने पर पाबंदी रहेगी। सर्दी, खांसी, जुकाम होने पर किसी भी व्यक्ति से कार्य न लिया जाए।

इन दुकानों को भी मिली छूट

सुबह 9 से शाम 4 बजे तक – बीज, उर्वरक एवं कीटनाशक दवाइयों के उत्पादन, पैकेजिंग तथा परिवहन हो सकेगा।
सुबह 7 बजे से 11 बजे तक – रजिस्टर्ड विक्रेता व संस्थाएं बीज, उर्वरक एवं कीटनाशक दवाइयों को बेच सकेंगे।
सुबह 10 से शाम 4 बजे तक – रेलवे रेक द्वारा उर्वरक की आपूर्ति, भंडारण और परिवहन, बीज ग्रेडिंग, प्रोसेसिंग और उनके परिवहन की छूट रहेगी।
सुबह 10 से शाम 4 बजे तक – फसल कटाई के काम आने वाले हार्वेस्टर, ट्रैक्टर आदि खेती के काम आने वाले उपकरणों की मरम्मत के लिए सर्विस सेंटर, गैराज व अन्य दुकानें खुल सकेगी। गैरेज और सर्विस सेंटर पर सिर्फ दो या तीन मैकेनिक ही रहेंगे।

लॉकडाउन की उल्टी गिनती शुरू होने के बाद रविवार से प्रशासन ने छूट देना शुरू कर दिया है। 6 अप्रैल से किसान फसल कटाई, सिंचाई के साथ बीज, उर्वरक व दवाइयों की खरीदी तथा कृषि उपकरणों की मरम्मत करा सकेंगे। इसके लिए गैरेज व सर्विस सेंटर खुलेंगे। इन पर सिर्फ दो या तीन मैकेनिक रहेंगे।