महिला की हिम्मत के आगे लुटेरे पस्त, पीछा कर बेटे ने जनता की मदद से पकड़ा

लुटेरों ने घर में अकेली मिली विनोद की 48 वर्षीय पत्नी प्रिया पर कट्टा तान दिया और घर से जेवर और पैसा लाने के लिए कहा। लेकिन प्रिया लुटेरों पर हावी हो गई और उन्होंने लुटेरों पर हमला कर दिया।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। शहर की पॉश कॉलोनी सिंध विहार में बुधवार की रात दो लुटेरों ने एक घर में घुसकर लूट की कोशिश की। लेकिन घर में मौजूद अधेड़ महिला ने लुटेरों का ना सिर्फ मुकाबला किया बल्कि शोर मचाया तो बाहर डॉग को घुमा रहा उनका बेटा घर आ गया। डॉग को देखकर लुटेरे भाग गए। बाद में पुलिस और पब्लिक ने मिलकर उन्हें पकड़ लिया। बताया जाता है कि लुटेरे कुरियर बॉय बनकर घुसे थे। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी भी मौके पर पहुंच गए।

एसपी अमित सांघी के मुताबिक झांसी रोड थाना क्षेत्र की गेट बंद कॉलोनी सिंध विहार में रहने वाले विनोद खटवानी के घर में दो लुटेरे बुधवार की रात कुरियर बॉय बनकर लूट के इरादे से घुस गए। गार्ड ने रोका तो उन्होंने विनोद खटवानी के घर का कुरियर बताया जिसपर गार्ड ने उन्हें जाने दिया। लुटेरों ने घर में अकेली मिली विनोद की 48 वर्षीय पत्नी प्रिया पर कट्टा तान दिया और घर से जेवर और पैसा लाने के लिए कहा। लेकिन प्रिया लुटेरों पर हावी हो गई और उन्होंने लुटेरों पर हमला कर दिया।

शोर सुनकर सड़क पर अपने जर्मन शेफर्ड को घुमा रहा प्रिया का बेटा घर पर आ गया उसने अपना डॉग लुटेरों पर छोड़ दिया। डॉग देखकर लुटेरे भाग गए और जाते जाते उनका मोबाइल छीन कर भाग गए। लुटेरे नीचे आकर एक ऑटो में चढ़कर भागे, उनके पीछे प्रिया का बेटा भागा, भीड़ में जब ऑटो धीमा हुआ तो बेटे ने एक लुटेरे को खींच लिया। ये सब देखकर इंदर गंज चौराहे पर व्यापारी मित्रों के साथ खड़े चाचा जनरल स्टोर के संचालक राजीव चड्ढा भी लुटेरों को पकड़ने के दौड़े और सब ने मिलकर लुटेरों को दबोच लिया और कट्टा छीन लिया।

शोर सुनकर चौराहे के पास मौजूद थाने का स्टाफ आ गया और लुटेरों को पकड़ लिया। लुटेरों के नाम रंजीत बाल्मीकि और विजय यादव हैं जिनसे कड़ी पूछताछ की जा रही है। लुटेरों के बैग से लिफ़ाफे और लाल मिर्च पाऊडर मिला है। एसपी अमित सांघी ने प्रिया खटवानी के साहस और व्यापारियों की हिम्मत की सराहना की।