ताक पर नियम: VIP शादी में 20 की जगह शामिल हुए 250, 48 कोरोना पॉजिटिव

भोपाल, डेस्क
हाल ही में कोरोना (corona) के बढ़ते सक्रमण को देखते हुए प्रदेश की शिवराज सरकार (shivraj sarkar) ने नई गाइडलाइन(guideline) जारी की थी, जिसके तहत शादी, सगाई आदि में दोनों पक्षों के 10-10 व्यक्ति से अधिक सम्मिलित नहीं होंगे।लेकिन बावजूद इसके लोग नियमों का खुलेआम उल्लंघन कर रहे है और शादियों में संख्या 100-200 के पार हो रही है।ताजा मामला राजधानी भोपाल से सामने आया है जहां दो रईस परिवारों ने अपने बेटे और बेटी की शादी में 250 लोगों को आमंत्रित किया, जिसमें से अब तक 48 लोग कोरोना पॉजिटिव निकल चुके है। हैरानी की बात तो ये है कि प्रशासन, पुलिस और नगर निगम को इसकी खबर है, लेकिन अबतक इस पर कोई एक्शन नही लिया गया है।

खबर है कि हाल ही में भोपाल के इन दो नईस परिवारों की शादी खूब सुर्खिया भी रही थी। एमपी नगर और श्यामला हिल्स स्थित दो अलग अलग होटलों में दिया गया था। इसमें ही 250 लोग शामिल हुए थे। जो लोग इस शादी में शामिल हुए उन्होंने शादी कार्यक्रम की तारीफ भी की थी, अब वे कोरोना संक्रमित होने लगे हैं तो वे अब पूरे मामले को छुपाने में लगे हैं। खास बात तो ये है कि ये लोग एक दो नहीं बल्कि पांच से अधिक कॉलोनियों जैन नगर लालघाटी, ग्रीन वुड्स कालोनी, आदित्य एवेंन्यू, जानकी नगर, सरस्वती नगर जवाहर चौक आदि में रहते हैं।

बता दे कि इस शादी में जैन नगर कॉलोनी लालघाटी ओर गुफा मंदिर क्षेत्र की कॉलोनियों में रहने वाले सबसे ज्यादा लोग शामिल हुए थे।जबकी लालघाटी और गुफा मंदिर क्षेत्र का क्षेत्र कंटेनमेंट जोन में है यहां आवाजाही को पूर्णतः बंद करने के निर्देश संबंधित एसडीएम को दिए। यहां के अब तक करीब 20 से अधिक लोग पॉजिटिव निकल चुके हैं। यह संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।

नई गाईडलाइन के अनुसार,
– प्रदेश में इस बार सार्वजनिक रूप से गणेश उत्सव (Ganesh Utsav) मनाने पर रोक रहेगी। -गणेश पंडालों को अनुमति नहीं दी जाएगी, घरों में ही इस बार भगवान श्री गणेश की पूजा होगी।
-वैवाहिक कार्यक्रम को लेकर भी नहीं गाइडलाइन लागू होगी। इसके अनुसार अब वर पक्ष और वधू पक्ष के 10-10 लोग ही शादी में शामिल हो सकेंगे।
-अंतिम संस्कार में भी 20 से अधिक लोग के शामिल होने पर रोक रहेगी। अंतिम संस्कार में भी सिर्फ 20 लोगों के शामिल होने की अनुमति होगी|
-कोरोना के चलते ईद के सामूहिक कार्यक्रम नही होंगे| इस बार लोग अपने घरों में ही ईद मनाएंगे।
-धार्मिक स्थलों मे एक बार मे पांच से ज्यादा लोगों को जाने की अनुमति नही होगी।
-जन्मदिन आदि उत्सवों में 10 से अधिक व्यक्ति शामिल नहीं होंगे।
– देव प्रतिमा घर पर ही स्थापित कर पूजा-अर्चना की जाएंगी। सार्वजनिक स्थलों पर प्रतिमा स्थापित करने, त्योहार मनाने की अनुमति नहीं होगी।