इस मंत्री के एक्शन पर नायब तहसीलदार हुए निलंबित, किसानों की फसलों को कहा था कचरा

सागर,डेस्क रिपोर्ट। सोमवार को सागर के जैसीनगर तहसील कार्यालय में कुछ किसान (Farmers) पाले से खराब हुई फसलों के सर्वे (Survey) की गुहार लेकर नायब तहसीलदार (Nayab Tehsildar) के पास पहुंचे थे। जहां किसानों के साथ नायब तहसीलदार द्वारा बदसलूकी (Misbehave) करना और गेहूं की फसल को कचरा (Garbage) बताना जैसीनगर के नायब तहसीलदार एलपी अहिरवार को महंगा पड़ गया। दरअसल जैसीनगर के नायब तहसीलदार को पद से तुरंत हटा दिया गया है। इसके साथ ही परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने सागर कलेक्टर दीपक सिंह को निर्देश दिए हैं कि वह एसडीएम से पूरे मामले की जांच कराएं।

तहसीलदाल को किया गया निलंबित 

सोमवार को नायब तहसीलदार (Nayab Tehsildar) के पास सर्वे (Survey) की गुहार लेकर कुछ किसान जैसीनगर तहसील पहुंचे थे। जब किसानों से बात करने के लिए नायब तहसीलदार बाहर आए और उन्होंने फर्श पर गेहूं की बालियां पड़ी देखी तो वह गुस्सा हो गए। उन्होंने कहा कि यह कचरा  यहां क्यों फैलाया है, इसी दौरान एक किसान ने अफसर के पैर छूकर सर्वे की गुहार लगाई जिस पर प्रतिक्रिया देते हुए अधिकारी ने उसे धक्का दे दिया और कहा कि यह नौटंकी मत करो क्या है यह। चुपचाप ज्ञापन दो और चले जाओ जिस पर संज्ञान लेते हुए आज मंत्री गोविंद सिंह राजपूत (Minister Govind Singh Rajput) ने तुरंत सागर कलेक्टर (Sagar Collector) को नायब तहसीलदार एलपी अहिरवार को निलंबित करने के आदेश जारी किए, जिसके बाद आज उन्हें निलंबित कर दिया गया है।

कांग्रेस ने कसा तंज

इस पूरे मामले पर कांग्रेस (Congress) द्वारा सरकार हो आड़े हाथों लेते हुए ट्वीट किया गया, जिसमें कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा लिखते है कि शिवराज जी,किसान पुत्र की सरकार का यह है आपका सुशासन…? आपका एक अफ़सर किस प्रकार किसानो की माँ रूपी फ़सल को कचरा बताकर अन्नदाताओ को दुत्कार रहा है। सागर ज़िले के सुरखी में ख़राब फसल को दिखाने गये किसानो के प्रति इन नायब तहसीलदार जी का रवैया देखिये।

 

मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने लिया संज्ञान

वहीं इस पूरे मामले को लेकर परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत कहते हैं कि किसान अपनी फसल लेकर तहसीलदार को दिखाने के लिए गए थे और मुआवजे की मांग कर रहे थे। जिस पर तहसीलदार द्वारा उन्हें धक्का दिया गया और यह भी कहा गया है कि यहां कचरा ना फैलाओ। यह कचरा कहां से लेकर आ गए। मैं समझता हूं किसी भी व्यक्ति के साथ अभद्र व्यवहार करने का किसी भी अधिकारी को कोई अधिकार नहीं है। मान सम्मान करना हमारा कर्तव्य होना चाहिए। जहां तक किसानों की बात है तो किसान हमारा अन्नदाता है। किसानों की बात सुनना चाहिए अगर किसान परेशान है तो उसके साथ में संवेदना व्यक्त करना चाहिए और यह जो शिकायत जैसीनगर से आई है, मैंने कलेक्टर सागर को निर्देश दे दिए हैं। तत्काल प्रभाव से तहसीलदार को जैसीनगर से हटा दिया गया है। आगे कोई भी कर्मचारी किसानों के साथ हो या आम व्यक्ति के साथ गलत व्यवहार करेगा तो यह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी की सरकार है किसी के पास भी इस तरह के दुर्व्यवहार करने की अनुमति नहीं है। सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।