मुरैना।संजय दीक्षित।

पोरसा थाना क्षेत्र के जोटई रोड पर पेट्रोलिंग करते समय वन विभाग के अधिकारियों ने अवैध रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली को पकड़ लिया।अवैध रेत से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली को पकड़कर राजसात की कार्रवाई के लिए थाने ले जा रहे ट्रैक्टर ट्रॉली को छुड़ाने के लिए वन विभाग की टीम पर रेत माफियाओं ने हमला कर दिया और ट्रैक्टर ट्रॉली छुड़ाकर ले गए। इस पूरी घटना के बारे में रेंजर दीपक शर्मा बताया कि जोटयी रोड पर पेट्रोलियम कर रहे थे तभी खेरली रोड पर सामने से रेत से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली आती हुई दिखाई दी ।जिसे रोककर अग्रिम कार्रवाई के लिए थाने ले जाया जा रहा था। तभी रास्ते में आरोपी सत्ते पुत्र बड़े लला तोमर नि रेपरा एवं करीब आठ-दस लोग लाठी डंडा लेकर आये और अवैध रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली को छुड़ाकर कर ले गए। जप्त वाहन का ड्राइवर बता रहा था कि ट्रैक्टर ट्रॉली कोथर के पप्पू तोमर का है। रेंजर दीपक शर्मा का कहना है कि अवैध रेत से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली खुर्द रायपुर घाट से भर कर आ रही थी। जिसे पकड़ कर राजसात की कार्रवाई के लिए थाने ले जाया जा रहा था।तभी आरोपी सत्ते तोमर और उसके 8-10 साथी आये और ट्रेक्टर ट्रॉली को छुड़ाकर ले गए।आरोपी सत्ते तोमर लोगों से चौथ वसूली कर चंबल के घाटों से रेत का अवैध परिवहन कर रहा है।घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया मय फोर्स के पोरसा थाने पहुंचे और आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर तत्काल गिरफ्तारी के लिए टीमें रवाना कर दी।पुलिस ने सत्ते तोमर सहित 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर आरोपियों की धरपकड़ शुरू कर दी हैं।सबसे बड़ी बात ये आती हैं कि जिले के मुखिया बने डीएफओ पूरे मामले में चुप्पी साधे हुए हैं।अवैध रेत का उत्खनन धड़ल्ले से चल रहा है लेकिन कार्यवाही के नाम पर शून्य बने हुए हैं।