स्कूल शिक्षा मंत्री का बयान- प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग-3 परीक्षाएं नहीं हुई निरस्त

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग-3स्कूल की परीक्षा लगातार विवादों में है, 25 मार्च को यह परीक्षा आनलाइन करवाई गई थी जिसके बाद मोबाईल पर इस पेपर के एक स्क्रीन शॉट ने हड़कंप मचा दिया, आरोप है कि पहले ही इस परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक कर दिया गया, हालांकि अब उम्मीदवारों के लिए यह राहत की खबर है, कि खुद प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह ने कहा है कि प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग-3 की परीक्षाएं निरस्त नहीं की गई है, ऐसा कोई फैसला सरकार ने नहीं लिया है, उन्होंने परीक्षा होने की सूचना को निराधार बताया है। परमार ने बयान जारी कर कहा कि परीक्षा निरस्त करने संबंधी खबरें भ्रामक और झूठी हैं। अफवाहों पर ध्यान न दें। परीक्षा नियम अनुसार समय पर आयोजित की गई है। सभी अभ्यर्थियों को सफल होने के लिए शुभकामनाएं।

यह भी पढ़ें… SRH vs RR : हैदराबाद ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का किया फैसला

गौरतलब है कि एमपी प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (एमपीपीईबी) की ओर से आयोजित मप्र प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (एमपीटीईटी) का पेपर वायरल होने का कांग्रेस ने आरोप लगाया था उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के ओएसडी लक्ष्मण सिंह मरकाम पर आरोप लगाए थे, किसी लक्ष्मण सिंह के स्क्रीन शॉट को कांग्रेस ने मुख्यमंत्री के ओएसडी लक्ष्मण सिंह मरकाम के फोन का स्क्रीन शॉट बताया था जिसमें इस परीक्षा का प्रश्न पत्र था, जिसके बाद ओएसडी लक्ष्मण सिंह ने कांग्रेस नेता के के मिश्रा और आनंद राय के खिलाफ भोपाल अजाक थाने में मामला दर्ज करवाया था। फिलहाल अब शिक्षा मंत्री के बयान के बाद इस परीक्षा को निरस्त करने की अफवाहों पर विराम लग गया है।