भोपाल पहुंचे सिंधिया, समर्थक मंत्री, विधायकों ने किया स्वागत, भाजपाई रहे नदारद

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया शाजापुर नगर पालिका द्वारा किए गए करोड़ों के विकास कार्यों का लोकार्पण करेंगे। 

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) मध्यप्रदेश के दौरे भोपाल पहुंचे। राजा भोज एयरपोर्ट पर सिंधिया समर्थक मंत्रियों,विधायकों ने उनका  स्वागत किया लेकिन खास बात ये रही कि एयर पोर्ट पर सिंधिया के स्वागत के लिए एक भी भाजपा (BJP) नेता मौजूद नहीं था।

सिंधिया एयर इंडिया विमान से दिल्ली से राजाभोज एयरपोर्ट भोपाल पहुंचे हैं। सिंधिया के भोपाल आगमन पर विधायक तुलसी सिलावट(Tilsi Silawat),विधायक गोविंद सिंह राजपूत (Govind Singh Rajput),  मंत्री प्रभुराम चौधरी, (Prabhuram Chaudhari)मंत्री हरदीपसिंह डंग (Hardeep SinghDang),मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया,(Mahendra Singh Sisodiya)मंत्री गिरिराज दंडोतिया(Giriraj dandotiya), मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) ने  एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया।  एयरपोर्ट से सिंधिया अपने समर्थक मंत्री विधायकों  के साथ रवाना हो गए।  सिंधिया सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh ChauhN) से मुलाकात करेंगे और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ शाजापुर के दौरे पर जायेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया शाजापुर नगर पालिका द्वारा किए गए करोड़ों के विकास कार्यों का लोकार्पण करेंगे।

इनका होगा भूमिपूजन, प्रतिमा अनावरण भी होगा 

स्टेडियम ग्राउंड में तरणताल दुपाड़ा रोड पर सुलभ कॉम्प्लेक्स , पंडित दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय रसोई, नवीन भवन शॉपिंग कॉम्प्लेक्स , नवनिर्मित इंटर कॉल बस स्टैंड नवीनीकरण का भूमि पूजन, नगरपालिका का नवनिर्मित भवन, नव पुरा चौराहा पर डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा का अनावरण, धान मंडी ओमकारेश्वर मंदिर के पास स्वर्गीय माधवराव सिंधिया की प्रतिमा का अनावरण शामिल है। यहां वे आईटीआई मैदान में एक आम सभा को भी संबोधित करेंगे।

बता दें कि भाजपा में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया का पहला नगर आगमन है इसको लेकर भाजपा ने भी जोरदार तैयारी की है जिलेभर से भाजपा कार्यकर्ता शाजापुर पहुंचेंगे और भ्रमण मार्ग पर जगह जगह उनका भव्य स्वागत किया जाएगा। इसको लेकर जिला भाजपा कार्यालय में भी बैठकों के माध्यम से कार्यकर्ता और पदाधिकारियों को अलग-अलग जवाबदारी भी  सौंपी गई है।