नागरिक उड्डयन क्षेत्र में विस्तार के लिए सिंधिया ने जारी किया 100 दिन का प्लान

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट।  केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय के तहत देश के विमानन क्षमताओं को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए 100 दिन की कार्ययोजना गुरुवार को प्रस्तुत की। सिंधिया ने कहा कि नागर विमानन (नागरिक उड्डयन) क्षेत्र को वृद्धि की ऊँचाइओं तक लेकर जाने के लिए 100 दिन के लिए नीतिगत, अधोसंरचना और रिफार्म के स्तरों पर कुल 16 लक्ष्य रखे गए हैं।

100 दिन की कार्ययोजना प्रेस के सामने साझा करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने बताया कि  नीतिगत स्तर पर 8 लक्ष्य रखे गए हैं।

1- एक क्रांतिकारी ड्रोन पालिसी जिसे प्रधानमंत्री जी की दूरदर्शिता के आधार पर लाया गया।

2- UDAN योजना के तहत 5 क्षेत्रों में गुजरात में केशोड़, झारखण्ड में देओघर, महाराष्ट्र में गोंदिया महाराष्ट्र में सिंधुदुर्ग और कुशीनगर, उत्तर प्रदेश में नए हवाईअड्डों का निर्माण करना साथ ही 6 नए हेलीपोर्ट और 50 नए UDAN रुट को संचालित करना जिसमें से 30 रूट अक्टूबर तक संचालित होंगे।

3- केपटाउन कन्वेंशन विधेयक को लाया जायेगा, जिससे लीजिंग कंपनियों को एक गारंटी दी जा सके, उस पर एक मसौदा बनाने की कोशिश और लीजिंग कंपनियां भारत में स्थापित करना।

4- GIFT सिटी, गुजरात में 5 कम्पनियाँ रजिस्टर हो गयी हैं जिसमें हाल ही में हमारी एक कंपनी ने पहला विमान लीज कराया।

5-  प्रदेश सरकारों के साथ मिलकर क्षेत्र को बढ़ावा देना, जिसमें 2 एहम मुद्दों पर इस प्रक्रिया की शुरुवात हुई है पहला, हवाईअड्डों के लिए भूमि आवंटन करने के लिए 29 राज्यों को हमने पत्र लिखे हैं। दूसरा मुद्दा है एयर टरबाइन फ्यूल पर प्रत्येक राज्य VAT लगाते है, उन्हें कम करना ताकि नागर विमानन क्षेत्र को आगे बढ़ाया जा सके।

6- राष्ट्रीय उड़ान अकादमी IGRUA का विस्तारीकरण, महामारी के बावजूद भी हमने 2020-21 मे पिछले वर्ष की तुलना में 93% पायलट लाइसेंस जारी किये।

7- MRO क्षेत्र के लिए नई नीति।

8-  नागर विमानन क्षेत्र को वापस पटरी पर लेकर आना।

ये भी पढ़ें – Bhopal News : इस IPS अधिकारी के यहां PWD कर्मचारियों ने काम करने से किया इंकार, ये है कारण

सिंधिया ने बताया कि इसके अलावा अधोसंरचना के विकास के विषय में 5 मुद्दे हैं,  इसमें 2 नए हवाईअड्डों का निर्माण जिसमें कुशीनगर हवाईअड्डे का निर्माण कार्य पूरा हो गया है और जेवर का निर्माण कार्य आरम्भ हो रहा है और 2 हवाईअड्डों के विस्तार का लक्ष्य,  अगरतला और देहरादून हवाईअड्डों में नयी टर्मिनल बिल्डिंग का निर्माण। इसके अलावा अन्य लक्ष्य भी सिंधिया ने प्रेस के सामने बताये।

ये भी पढ़ें – Gwalior News : एयरपोर्ट विस्तार और नए टर्मिनल के लिए मिली 110 एकड़ जमीन, NOC जारी

ये भी पढ़ें – हरक्यूलिस से हाइवे पर उतरे राजनाथ-गडकरी, रचा इतिहास, बोले और मजबूत होगी हमारी सुरक्षा