टीम वीडी में सिंधिया समर्थकों को जगह नहीं, कांग्रेस का तंज ट्रांजिट विजिट पर ही रहेंगे महाराज

गौरतलब है पहले भी जब प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत शर्मा ने महामंत्रियों की घोषणा की थी उस समय भी सिंधिया समर्थक दरकिनार कर दिए गए थे।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष खजुराहो सांसद वीडी शर्मा (VD Sharma)ने बुधवार को अपनी नई कार्यकारिणी घोषित कर दी। 28 सदस्यीय टीम में संतुलन बनाये रखने का प्रयास किया गया है लेकिन खास बात ये है कि इसमें मूल रूप से संगठन के लोगों को ही जगह मिली है, ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia)समर्थकों को टीम वीडी (Team VD) में स्थान नहीं मिला है। कांग्रेस (Congress)  ने सिंधिया समर्थकों के शामिल नहीं किये जाने पर तंज कसा है। कांग्रेस (Congress) का कहना है कि भाजपा (BJP)ने संकेत दे दिया है कि महाराज ट्रांजिट विजिट पर ही रहेंगे।

कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) गिराने और भाजपा (BJP) में आने के बाद अपने समर्थकों को मंत्री बनवाने में कामयाब हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) राज्यसभा तो पहुँच गए लेकिन अभी वे केंद्रीय मंत्री (Central Minister) बनने की बाट जोह रहे हैं। कुछ दिन पूर्व मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan)की टीम में अपने दो खास समर्थकों तुलसीराम सिलावट (Tulsiram Silavat) और गोविंद सिंह राजपूत (Govind Singh Rajput) को फिर से मंत्री बनवाने में कामयाब हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा (VD Sharma)की टीम में अपने समर्थकों को जगह नहीं दिला पाए। हालांकि भाजपा (BJP)  की प्रदेश कार्यकारिणी में हो रही देरी को लेकर ये कयास लगाए जा रहे थे कि सिंधिया (Scindia)के दखल के कारण ऐसा हो रहा है लेकिन बुधवार को घोषित टीम वीडी (Team VD) से ये कयास धूमिल हो गए। सिंधिया (Scindia) के किसी भी समर्थक को प्रदेश कार्यकारिणी में पदाधिकारी नहीं बनाया गया है। गौरतलब है पहले भी जब प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत शर्मा (VD Sharma)ने महामंत्रियों की घोषणा की थी उस समय भी सिंधिया (Scindia) समर्थक दरकिनार कर दिए गए थे। इसके बाद यह माना जा रहा था कि कांग्रेस की तर्ज पर भाजपा (BJP) में भी सिंधिया अपने समर्थकों को प्रदेश कार्यकारिणी में शामिल कराने में कामयाब होंगे। लेकिन हुआ इसके ठीक विपरीत। भाजपा संगठन ने उन्हें कोई खास तवज्जो नहीं दी है।

भिंड का वजन बढ़ा, ग्वालियर से एक पूर्व विधायक शामिल

ग्वालियर चंबल अंचल को सिंधिया (Scindia) का गढ़ माना जाता है इसलिए उम्मीद थी कि सिंधिया (Scindia) इस क्षेत्र के कुछ खास समर्थकों को तो टीम वीडी (Team VD) में जगह दिलवा ही देंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। ग्वालियर से केवल पूर्व विधायक मदन कुशवाह को प्रदेश मंत्री बनाया गया है । मदन कुशवाह बीएसपी से विधायक रहे हैं वे कांग्रेस से होते हुए भाजपा में आये हैं। वहीं टीम वीडी (Team VD)में भिंड का वजन बढ़ा है । प्रदेश के दो उपाध्यक्ष सांसद श्रीमती संध्या राय और मेहगांव से भाजपा विधायक रह चुके मुकेश चौधरी बनाये गए है । ये दोनों भिंड जिले से आते हैं। लोकेंद्र पाराशर को एक बार फिर प्रदेश के मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी सौंपी गई है । गौर करने वाली बात ये है कि प्रदेश अध्यक्ष ने मोर्चा 7 अध्यक्षों की भी घोषणा की है और इसमें भी सिंधिया समर्थक गायब हैं।

कांग्रेस का तंज, ट्रांजिट विजिट पर ही रहेंगे महाराज

सिंधिया (Scindia) समर्थकों को टीम वीडी (Team VD) में जगह नहीं मिलने के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया हैं । कांग्रेस (Congress) ने इस पर तंज कसा है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आर पी सिंह (RP Singh)ने एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ (MP Breaking News)से बात करते हुए कहा कि भाजपा (BJP) ने अपने इरादे स्पष्ट कर दिये है कि जो उनका वर्क कल्चर अपनायेगा वही संगठन में रहेगा। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि स्पष्ट संकेत है कि पार्टी संगठन में सिंधिया (Scindia)ट्रांजिट विजिट पर ही रहेंगे। संभव है उन्हे यहाँ से जल्दी पलायन भी करना पड़े। उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा था कि आयातित और स्थापित नेताओं के बीच घमासान था जिसकी वजह से टीम घोषित होने में देर हुई और आखिर में पार्टी ने स्थापित नेताओं को स्थान दिया है।

बहरहाल पार्टी को प्रदेश कार्यकारिणी में किसे रखना है ये वरिष्ठ नेतृत्व और प्रदेश अध्यक्ष का फैसला होता है लेकिन जिस तरह से घटना क्रम घटित हो रहे हैं उससे कांग्रेस (Congress)को भाजपा (BJP) और सिंधिया (Scindia) दोनो को घेरने का मौका जरूर मिल रहा है।

टीम वीडी में सिंधिया समर्थकों को जगह नहीं, कांग्रेस का तंज ट्रांजिट विजिट पर ही रहेंगे महाराज

टीम वीडी में सिंधिया समर्थकों को जगह नहीं, कांग्रेस का तंज ट्रांजिट विजिट पर ही रहेंगे महाराज

टीम वीडी में सिंधिया समर्थकों को जगह नहीं, कांग्रेस का तंज ट्रांजिट विजिट पर ही रहेंगे महाराज