पुराने ऑडियो वायरल मामले में बोले एसडीएम, कोरोना योद्धाओं के खिलाफ दुष्प्रचार बन्द करें लोग

दमोह। गणेश अग्रवाल।

कोरोना(corona) के संक्रमण काल में कोरोना के संकट के बीच काम कर रहे प्रशासनिक अधिकारियों का मनोबल गिराने का काम भी कुछ लोगों द्वारा किया जा रहा है। दमोह के एसडीएम(sdm) का एक ऑडियो वायरल(audio viral) कर कुछ लोगों द्वारा दुष्प्रचार किए जाने की बात सामने आई है। वहीं इसके बाद एसडीएम ने इस ऑडियो(audio) की सच्चाई बताते हुए कहा कि यह ऑडियो पुराना है. साथ ही इस ऑडियो का छोटा सा पार्ट वायरल किया जा रहा है। जबकि इसकी सच्चाई कुछ और ही है.

कोरोना संकट के लिए दिन रात एक कर रहे प्रशासनिक अधिकारियों को जहां कोरोना योद्धा के रूप में लोग सम्मानित कर रहे हैं। वहीं कुछ लोग इस संक्रमण काल का गलत फायदा उठा कर इन अधिकारियों को छवि को खराब करने के काम में लग गए हैं। एक ऑडियो वायरल कर कुछ लोगों द्वारा दमोह के एसडीएम पर गलत लहजे में बातचीत करने की बात को वायरल किया गया। तो वहीं जब एसडीएम से इस मामले में बात की तो उनका कहना था कि यह ऑडियो करीब 20 दिन पुराना है। वही इस पूरी बातचीत के दौरान उन्होंने मामले में जांच की बात भी कही है. लेकिन ऑडियो को जानबूझकर आधा वायरल करते हुए गलत संदेश दिया जा रहा है। एसडीएम ने यह भी कहा कि प्रशासन द्वारा रेट लिस्ट जारी करते हुए सामग्री की बिक्री कराया जाना सुनिश्चित किया है। दमोह जिले में कहीं से भी गलत रेट पर सामग्री बिक्री की कोई भी शिकायत नहीं है। जो रेट लिस्ट जारी हुई है उसी रेट पर सामग्री विक्रय हो रही है। यह साजिश के तहत दुष्प्रचार किया जा रहा है।