निलंबित IPS जीपी सिंह पर राजद्रोह का केस, सरकार के खिलाफ साजिश रचने का आरोप, जल्द हो सकती है गिरफ्तारी

छत्तीसगढ़ में भारतीय सेवा यानी आईएएस, आईपीएस और आईएफएस के किसी अधिकारी के खिलाफ राजद्रोह का यह पहला मामला है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एसीबी (ACB) द्वारा चली छापेमारी और सरकारी कार्रवाई के बाद अब लिखित शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने एसीबी के पूर्व चीफ जीपी सिंह के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज कर लिया है। निलंबित आईपीएस (IPS) जीपी सिंह की जल्द ही गिरफ्तारी होने की बात सामने आ रही है। बता दें कि एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) के छापे के दौरान एडीजी के सरकारी बंगले से कुछ चिट्ठियां और पेन ड्राइव मिले थे। वहीं उनकी जांच के बाद अब कोतवाली पुलिस ने जीपी सिंह के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज किया है। उनपर सरकार के खिलाफ साजिश रचने का आरोप लगा है।

प्रभारी मंत्री नरोत्तम मिश्रा पहुंचे मंत्री सिलावट के घर, क्यों कहा- ग्वालियर में महाराज भी है!

जीपी सिंह के सरकारी बंगले और सहयोगियों के ठिकानों में छापेमारी के दौरान जो दस्तावेज मिले हैं, उसमें ऐसी बातें सामने आई हैं, जो सरकार के खिलाफ साजिश रचने की ओर इशारा कर रही है। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई है। छत्तीसगढ़ में भारतीय सेवा यानी आईएएस, आईपीएस और आईएफएस के किसी अधिकारी के खिलाफ राजद्रोह का यह पहला मामला है। इससे पहले भारतीय सेवा के किसी अधिकारी पर यह केस दर्ज नहीं किया गया है।

एक जुलाई को सरकारी बंगले पर हुई थी छापेमारी

IPS जीपी सिंह भारतीय प्रशासनिक सेवा के पहले अफसर हैं, जिन पर प्रदेश में राजद्रोह का मामला दर्ज किया गया है। ACB ने जीपी सिंह के पुलिस लाइन स्थित सरकारी बंगले पर एक जुलाई की सुबह 6 बजे छापा मारा था। इसके साथ ही 15 ठिकानों पर भी एक साथ कार्रवाई की गई थी। करीब 68 घंटे से भी ज्यादा समय तक चली कार्रवाई के दौरान 10 करोड़ की अघोषित संपत्ति के साथ बंगले के पीछे गटर से कई डॉक्यूमेंट्स मिले थे। इन्हें ही राजद्रोह के लिए साक्ष्य माना गया है।

निलंबित IPS जीपी सिंह पर राजद्रोह का केस, सरकार के खिलाफ साजिश रचने का आरोप, जल्द हो सकती है गिरफ्तारी

EPF: कोरोना सहित गंभीर खतरनाक बीमारी होने पर 24 घंटे में मिलेंगे 1 लाख रुपए, सर्कुलर जारी

चिटि्ठयों में सरकार के खिलाफ साजिश रचने की बातें

जीपी सिंह के सरकारी बंगले और उनके सहयोगियों के ठिकानों में छापेमारी के दौरान जो चिटि्ठयां और दस्तावेज मिले हैं, उनमें ऐसी बातें लिखी हुई हैं जो सरकार के खिलाफ साजिश की तरफ सीधा इशारा कर रही हैं। पत्र के अलावा डायरी के कुछ पन्ने ऐसे हैं, जिनमें कुछ लोगों को लेकर गंभीर आपत्तिजनक टिप्पणियां हैं, जिन्हें पुलिस यह मान कर चल रही है कि इनसे समाज में का मौहाल बिगाड़ने का प्रयास भी किया गया।