प्रवासी मजदूरों से शहडोल भी पहुंचा कोरोना

 

शहडोल (Shahdol) मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) का 28 वा जिला बन गया है जो कोरोना संक्रमित है। दरअसल शहडोल में कोरोना का संक्रमण एक 26 वर्षीय युवक और एक 15 वर्षीय बालिका को हुआ है। यह दोनों अहमदनगर  (Ahmednagar) और विदिशा (Vidisha) से वापस शहडोल पहुंचे थे और इन्हें गोहपारू के कोरेन्टाइन (Quarantine) सेंटर में रखा गया था जहां इनका टेस्ट लिया गया था और इसके बाद बिना रिपोर्ट आए इनकी छुट्टी कर दी गई थी। जहां से यह लोग अपने अपने गांव चले गए ।आज रिपोर्ट आने पर प्रशासन के हाथ-पैर फूल गए हैं और अब इनकी तलाश जारी कर दी गई है हालांकि अभी तक इस बात की सूचना नहीं मिल पाई है कि प्रशासन ने इन दोनों को ढूंढ लिया है या नहीं और अधिकारी भी इस मामले में कुछ भी कहने से साफ तौर पर बच रहे हैं। लेकिन एक बड़ी लापरवाही यह सामने आ रही है कि जब मजदूरों को निश्चित 14 दिनों के लिए कोरेन्टाइन (Quarantine) में रखना था तो आखिरकार उन्हें छोड़ कैसे दिया गया। इसके साथ ही एक बड़ा सवाल यह भी खड़ा हो रहा है कि प्रवासी मजदूरों की मध्यप्रदेश (Madhya pradesh) में वापसी कहीं उन जिलों में भी कोरोना की दस्तक ना दिला दे जो अभी तक कोरोना से मुक्त हैं।